Home /News /jharkhand /

डायन बताकर मुखिया ने महिला के दो बेटों को पिटवाया, एक की आंख भी फोड़ी

डायन बताकर मुखिया ने महिला के दो बेटों को पिटवाया, एक की आंख भी फोड़ी

झारखंड के गुमला में डायन बिसाही के मामले में दो भाईयों की निर्मम पिटाई की गई है (सांकेतिक चित्र)

झारखंड के गुमला में डायन बिसाही के मामले में दो भाईयों की निर्मम पिटाई की गई है (सांकेतिक चित्र)

Jharkhand News: गुमला जिला के सिसई थाना क्षेत्र अंतर्गत हुई इस घटना में लकया गांव में मुखिया ने ग्रामीणों की मदद से दो भाइयों संजय और अजय के साथ दरिंदगी दिखाई. दोनों भाई पिटाई के बाद अधमरा होकर अस्पताल में भर्ती हैं. मामले की जांच के लिए गुमला की सिसई पुलिस मौके पर पहुंची है.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- रूपेश कुमार भगत

    गुमला. झारखंड में डायन बिसाही (Dayan Bisahi) को लेकर दिल को दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहा एक महिला को मां को डायन बताकर उसके दो बेटों की बांधकर न केवल पिटाई की गई बल्कि निर्ममता की सारी हदों को पार करते हुए एक की आंख भी फोड़ दी गई. घटना गुमला (Gumla) जिला के सिसई थाना क्षेत्र के लकया गांव की है जहां अंधविश्वास में ग्रामीणों ने इस घटना को अंजाम दिया.

    लोगों ने दोनों भाइयों संजय उरांव और अजय उरांव को खंभे में बांधकर पीटा. दोनों भाई पिटाई के बाद अधमरे हो गये. इसके बाद अजय उरांव की बाईं आंख भी फोड़ दी गई. मां और परिवार के साथ हो रही इस घटना की सूचना पीड़िता की छोटी बहन ने पुलिस को दी जिसके बाद सिसई पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों भाईयों को सिसई रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया. इस मामले में संजय उरांव ने लकया पंचायत के मुखिया सुगिया देवी समेत 10 लोगों पर डायन बिसाहिन के आरोप में मारपीट कर आंख फोड़ने का प्राथमिकी दर्ज कराई है.

    पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. घटना के संबंध में पीड़ित संजय उरांव ने बताया कि लकया पंचायत की मुखिया सुगिया देवी उसकी मां को डायन बताकर हमेशा प्रताड़ित करती रहती है. ग्रामीण रंथू गोप से मिलकर मुखिया ने उनके पूरे परिवार का गांव से बहिष्कार करा दिया है. बीते शनिवार की रात को ग्रामीणों ने संजय उरांव को पोल से बांधकर पीटा. उसे खोजने गए उसके भाई संजय पर भी जानलेवा हमला किया गया उसे भी पोल पर बांध दिया गया.

    संजय का मोबाइल और पैसा भी लूट लिया गया साथ ही उसके माता-पिता और अन्य परिजन बचाने आए तो उन पर भी हमला किया गया. पीड़ित संजय उरांव ने कहा कि गांव के मुखिया सुगनी देवी करीब डेढ़ साल से उनके परिवार को डायन बिसाही का आरोप लगाकर प्रताड़ित कर रही है. इससे पूर्व भी डायन बिसाही का आरोप लगाकर मारपीट की गई थी. 27 जुलाई को सिसई थाना में इसकी लिखित सूचना दी गई थी लेकिन पुलिस के द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गयी.

    इस संबंध में गुमला एसडीपीओ मनीष चंद्र लाल ने बताया कि सिंसई थाने में पीड़ित परिवार के द्वारा मुखिया सहित 11 लोगों के विरुद्ध केस दर्ज करवाया गया है. मामला डायन बिसाही से जुड़ा हुआ है. पुलिस ने इस मामले में अभी तक 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. मुखिया का भी नाम सामने आया है पुलिस मामले की जांच कर रही है.

    Tags: Jharkhand news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर