झारखंड के गुमला में नक्सलियों ने 4 वाहन फूंके, पुलिस के जाते ही रोड कंस्ट्रक्शन साइट पर फिर बोला हमला
Gumla News in Hindi

झारखंड के गुमला में नक्सलियों ने 4 वाहन फूंके, पुलिस के जाते ही रोड कंस्ट्रक्शन साइट पर फिर बोला हमला
नक्सलियों ने सड़क निर्माण में लगे चार वाहनों को फूंका

रात के अंधेरे में आग लगने से टायर फटने की आवाज सुनकर ग्रामीणों (Villagers) में दहशत फैल गई. लोग अपने-अपने घरों में दुबके रहे. मौके पर मौजूद मजदूर (Laborers) भी रात में ही वहां से भाग निकले.

  • Share this:
गुमला. जिले के पालकोट प्रखण्ड के बिलिंगबिरा पंचायत के लोवा खमन गांव में रविवार रात नक्सलियों (Naxal) ने सड़क निर्माणकार्य में लगी चार गाड़ियों को आग (Fire) के हवाले कर दिया. जानकारी के अनुसार रायडीह सीमान के धनगरी लुका गांव से गोएनधारा गांव तक सड़क निर्माण का काम चल रहा है. रविवार को सभी गाड़ियों को खड़ा कर मजदूर सो रहे थे, तभी नक्सलियों का दस्ता वहां पहुंचा और स्थानीय लोगों को अपना ट्रैक्टर ले जाने का फरमान सुनाते हुए कम्पनी के खड़े वाहन, ग्राइंडर मशीन, जेसीबी, टेंकर, रोलर मशीन को आग के हवाले कर दिया.

टायर फटने की आवाज से ग्रामीणों में फैली दहशत

रात के अंधेरे में आग लगने से टायर फटने की आवाज सुनकर ग्रामीणों में दहशत फैल गई. लोग अपने-अपने घरों में दुबक रहे. मौके पर मौजूद मजदूर भी रात में ही वहां से भाग निकले. बताया जाता है कि घटना को नक्सली खुदी मुंडा और बुधेश्वर के दस्ते ने अंजाम दिया. हालांकि पुलिस इसकी पुष्टि नहीं कर रही है. जानकारी के अनुसार, लवखम्मन टोली के धनगरी लुंका स्कूल से लेकर गोएनधारा बस्ती तक 6 किमी का सड़क निर्माण कराया जा रहा था. मगर लॉकडाउन के कारण बीच में निर्माणकार्य बंद हो गया था. दो-तीन पहले निर्माण कार्य फिर शुरू किया गया. यह निर्माण कार्य शहर के करौंदी निवासी ठेकेदार मुन्ना सिंह द्वारा कराया जा रहा है.



मजदूरों को काम नहीं करने की दी चेतावनी 



रविवार रात को जेसीबी मशीन, पानी टंकी मशीन, रोलर मशीन, ग्राइंडर मशीन व दर्जनों ट्रैक्टरों को लवखम्मन टोली के समीप खड़ा किया गया था. ऑपरेटर और मजदूर खाना खाकर सोने की तैयारी में थे. इसी दौरान कई हथियार बंद नक्सली मौके पर आ धमके. नक्सलियों ने ऑपरेटर और मजदूरों को चेतावनी देते हुए बगैर पूछे काम नहीं करने की धमकी दी. इसके बाद मशीनों व ट्रैक्टर से पेट्रोल-डीजल निकालकर आग लगा दिया. बाद में नक्सली नारेबाजी करते हुए मौके से चले गये. डरे-सहमे मजदूरों और ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना देने की हिम्मत नहीं की. सोमवार सुबह करीब 10 बजे पुलिस को घटना की जानकारी मिली. जिसके बाद जिले के वरीय अधिकारी समेत तीन थाने की पुलिस, सीआरपीएफ और सैप के जवान मौके के लिए रवाना हुए.

सूचना के मुताबिक चार घंटे पहले पुलिस इस इलाके में नक्सली मूवमेंट की सूचना पर एलआरपी (लॉन्ग रूट पेट्रोलिंग) चलाकर वापस लौटी थी. लेकिन पुलिस के जाते ही नक्सलियों ने सड़क निर्माण में लगे मशीनों और ट्रक को आग के हवाले कर दिया.

इनपुट- सुशील कुमार

ये भी पढ़ें- चाईबासा पुलिस ने SPO को दिया शहीद का दर्जा, DIG बोले- अब नक्सलियों का अंतिम समय आ गया

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading