पुल नहीं होने से 25 के बदले 55 किलोमीटर का सफर तय करते हैं लोग
Gumla News in Hindi

पुल नहीं होने से 25 के बदले 55 किलोमीटर का सफर तय करते हैं लोग
पारस नदी पर पुल नहीं होने से लोगों को परेशानी

ग्रामीणों की माने तो इस नदी पर पुल बनने से उनका जीवन सरल हो जाएगा. वहीं महिलाओं की माने तो कई बार जरूरी हालात में भी लोग अपने परिजनों से नहीं मिल पाते.

  • Share this:
गुमला के सिसई में पारस नदी पर लम्बे समय बाद भी पुल का निर्माण नहीं होने से इलाके के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. पुल के अभाव में लोगों को जिला मुख्यालय जाने में 25 के बदले 55 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है.

पारस नदी के आस-पास बसे दर्जनों गांवों के लोगों को नदी को पैदल पार करना पड़ता है. ग्रामीणों की माने तो इस नदी पर पुल बनने से उनका जीवन सरल हो जाएगा. वहीं महिलाओं की माने तो कई बार जरूरी हालात में भी लोग अपने परिजनों से नहीं मिल पाते.

ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता रवि सहाय की माने तो मुख्यमंत्री सेतु योजना के तहत पुल की स्वीकृति हो गयी है, जल्द पुल का निर्माण शुरू हो जायेगा.



झारखंड को अलग राज्य बने हुए 17 साल बीत गये हैं, लेकिन यहां पुल का निर्माण नहीं हो पाया. लेकिन वर्तमान रघुवर सरकार ने पुल निर्माण की स्वीकृति दे दी है. इससे लोगों में खुशी का माहौल है. हालांकि ग्रामीण पुल का निर्माणकार्य जल्द शुरू होते देखना चाहते हैं.
 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading