कुख्यात मानव तस्कर पन्ना लाल पर सीसीए लगाने की तैयारी में पुलिस

कुख्यात मानव तस्कर पन्नालाल महतो के खिलाफ खूंटी पुलिस सीसीए यानि क्राइम कंट्रोल एक्ट लगाने की सिफारिश राज्य सरकार से करेगी. पन्नालाल महतो हाल ही में झारखंड हाईकोर्ट से बेल मिलने के बाद जेल से छूटा है.
कुख्यात मानव तस्कर पन्नालाल महतो के खिलाफ खूंटी पुलिस सीसीए यानि क्राइम कंट्रोल एक्ट लगाने की सिफारिश राज्य सरकार से करेगी. पन्नालाल महतो हाल ही में झारखंड हाईकोर्ट से बेल मिलने के बाद जेल से छूटा है.

कुख्यात मानव तस्कर पन्नालाल महतो के खिलाफ खूंटी पुलिस सीसीए यानि क्राइम कंट्रोल एक्ट लगाने की सिफारिश राज्य सरकार से करेगी. पन्नालाल महतो हाल ही में झारखंड हाईकोर्ट से बेल मिलने के बाद जेल से छूटा है.

  • Share this:
कुख्यात मानव तस्कर पन्नालाल महतो के खिलाफ खूंटी पुलिस सीसीए यानि क्राइम कंट्रोल एक्ट लगाने की सिफारिश राज्य सरकार से करेगी. पन्नालाल महतो हाल ही में झारखंड हाईकोर्ट से बेल मिलने के बाद जेल से छूटा है. इससे पहले   लगभग दो सालों तक खूंटी में जेल में बंद था.

ताकि फिर नहीं दे अपराध को अंजाम

मानव तस्करी की गतिविधियों पर नजर रखने एवं पन्नालाल के बाहर नहीं होने देने के उद्देश्य से पुलिस सीसीए लगाने की तैयारी में है. खूंटी के एसपी अनीश गुप्ता ने इस संबंध में बताया कि पन्नालाल के सगे-संबंधियों एवं उनकी प्लेसमेंट एजेंसी पर भी लगातार निगरानी रखी जाएगी ताकि फिर से पन्नालाल मानव तस्करी के मामलों को अंजाम नहीं दे सके. गौरतलब है कि पन्नालाल के खिलाफ पुलिस ने एक दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज कर रखे हैं.



क्या है सीसीए
सीसीए दरअसल दो तरह के होते हैं. 12(2) सी और सीसीए (3). 12(2) सी में कुख्यात अपराधियों को जिला बदर करने का प्रावधान है. अपराधी एक दर्जन गंभीर मामले में शामिल हो, या एक साल में दो से तीन बड़े कांड का आरोपी हो और इसमें किसी कांड में अपराधी जमानत के लिए अर्जी दिया हो. हाई कोर्ट में पुलिस द्वारा सीसीए के तहत आवेदन करने पर छह माह से एक साल तक अपराधी को जमानत नहीं देने का प्रावधान है. सीसीए(3) के तहत अपराधी को एक थाना से दूर दराज के थाना में रोजाना हाजिरी लगानी होती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज