खेती का काम न हो तब पलायन की जगह घर पर ही करें मुर्गी पालन
Gumla News in Hindi

खेती का काम न हो तब पलायन की जगह घर पर ही करें मुर्गी पालन
मुर्गीपालन से जुड़ते ग्रामीण

ग्रामीण इलाकों में लोगों को मुर्गी पालन से जोड़ने के उद्देश्य से आईटीडीए विभाग विशेष योजना चलाकर ग्रामीणों के लिए मुर्गी शेड का निर्माण करवा रहा है ताकि जब ग्रामीणों के पास खेती का काम न हो तब वे पलायन ना कर मुर्गीपालन के काम से अपने घर पर ही जुड़ जाएं.

  • Share this:
गुमला जिला के ग्रामीण इलाकों में आदिवासी परिवारों की आमदनी को बेहतर करने के उद्देश्य से राज्य के मुखिया रघुवर दास की पहल से लोगों को मुर्गी पालन से जोड़ने का काम तेजी से किया जा रहा है. इसके लिए सरकार की ओर से मुर्गी सेड निर्माण से लेकर मुफ्त में चुजा उपलब्ध करवाया जा रहा है. इसे लेकर इलाके के लोगों में खुशी का माहौल देखने को मिल रहा है.

ग्रामीण इलाकों में लोगों को मुर्गी पालन से जोड़ने के उद्देश्य से आईटीडीए विभाग विशेष योजना चलाकर ग्रामीणों के लिए मुर्गी शेड का निर्माण करवा रहा है. ऐसा इसलिए ताकि जब ग्रामीणों के पास खेती का काम न हो तब वे पलायन ना कर मुर्गी पालन के काम से अपने घर पर ही जुड़ जाएं और अपनी जीविका बेहतर ढंग से चला सकें. विभाग के पदाधिकारी की माने तो सरकार की ओर से राशि से ग्रामीणों को मुर्गी पालन से जोड़ा जा रहा है. वहीं मुर्गी पालन के जानकारों की माने तो थोड़ा सावधानी बरतकर ग्रामीण मुर्गी पालन से काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं.

यहां की महिलाओं की माने तो इससे ग्रामीणों को तो रोजगार का बेहतर विकल्प मिला ही साथ ही उन्हें अपने बच्चों की पढ़ाई लिखाई करवाने में भी सुविधा मिल पायेगी. लाभुकों के अनुसार अब उन्हें जिल्लत भरी जीवन जीने के लिए बाहर जाने की आवश्यकता नहीं होगी. बता दें कि मुख्यमंत्री रघुवर दास हर मंच पर ग्रामीणों को मुर्गी पालन से जोड़कर अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत करने की अपील करते हैं. जिस तरह से सरकार की ओर से इस दिशा में पहल की जा रही है उससे स्पष्ट है कि मुख्यमंत्री ना केवल ग्रामीणों के लिए योजना बना रहे हैं बल्कि उसे यथाशीघ्र जमीन पर उतारने को लेकर गंभीरता से अपनी टीम से काम भी करवा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading