Home /News /jharkhand /

अंधविश्वास का बहशी रूप: डायन बताकर पहले महिलाओं को पीटा, फिर काट खाया होंठ

अंधविश्वास का बहशी रूप: डायन बताकर पहले महिलाओं को पीटा, फिर काट खाया होंठ

गुमला में रिश्तेदारों ने ही डायन बताकर दो महिलाओं को पीट डाला.

गुमला में रिश्तेदारों ने ही डायन बताकर दो महिलाओं को पीट डाला.

Gumla News: पीड़िता बिपैत उरांव ने बताया कि रिश्तेदारों ने उन्हें डायन बताकर पहले जमकर पीटा, फिर मुंह में दांत काट लिया. उन्हें जान से मारने की भी धमकी दी गई. पूरे मामले को लेकर घाघरा थाने में लिखित शिकायत पीड़िता के द्वारा दर्ज करायी गयी.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- रूपेश भगत

    गुमला. झारखंड के गुमला में अंधविश्वास चरम पर है. जागरूकता की कमी के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में डायन बिसाही को लेकर आए दिन मारपीट व हत्या जैसी जघन्य घटनाएं घट रही हैं. ताजा मामला जिले के घाघरा थाना क्षेत्र के गम्हरिया गांव का है, जहां डायन बिसाही के आरोप में गांव के 45 वर्षीय तेम्बो उरांव और बिपैत उरांव को उन्हीं के रिश्तेदारों ठडुपा उरांव, बांधो देवी, चामू उरांव और रीना उरांव ने मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया. बाद में गांववालों ने दोनों को बचाया.

    पीड़िता बिपैत उरांव ने बताया कि रिश्तेदारों ने उन्हें डायन बताकर पहले जमकर पीटा, फिर मुंह में दांत काट लिया. उन्हें जान से मारने की भी धमकी दी गई. पूरे मामले को लेकर घाघरा थाने में लिखित शिकायत पीड़िता के द्वारा दर्ज करायी गयी. पुलिस मामले की जांच कर रही है. थानाप्रभारी अभिनव कुमार ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए प्राथमिकी दर्ज कर छानबीन की जा रही है. दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा. डायन बिसाही एक अंधविश्वास है. इस तरह का आरोप लगाकर किसी भी तरह से प्रताड़ित करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा.

    जिले में डायन बिसाही के मामले में नहीं आ रही कमी

    जिले में डायन बिसाही के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. मारपीट से लेकर हत्या तक के वारदात सामने आते रहते हैं. कुछ मामलों में कार्रवाई होती है. कुछ में शिकायत थाना तक नहीं पहुंच पाती है. सरकार और जिला प्रशासन स्तर पर कोई पहल नहीं की जा रही है. लिहाजा लोग अंधविश्वास की मकड़जाल में फंसे हुए हैं.

    Tags: Gumla news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर