लाइव टीवी

भारत-पाक सीमा पर शहीद हो गया गुमला का जवान संतोष गोप

Sushil Kumar Singh | News18 Jharkhand
Updated: October 13, 2019, 7:59 PM IST
भारत-पाक सीमा पर शहीद हो गया गुमला का जवान संतोष गोप
भारतीय सेना में भर्ती होने के लिए 2012 में रांची में परीक्षा पास करने के बाद संतोष गोप की पोस्टिंग जम्मू-कश्मीर में हुई थी.

संतोष की माँ की माने तो उनका बेटा जून में जब घर आया था तब उसने शादी के लिए लड़की ढूढ़ने की बात कही थी. इसके लिए परिवार के लोग तैयारी भी कर रहे थे, लेकिन ईश्वर को कुछ और ही मंजूर था.

  • Share this:
गुमला. भारत-पाकिस्तान (India_Pakistan) की सीमा पीओके (PoK) पर पाकिस्तान की ओर से की गई सीजफायर उल्लंघन (Ceasefire violation) में भारत का एक जवान संतोष गोप शहीद (Santosh Gope Martyred) हो गया. वह गुमला (Gumla) जिले का निवासी था. इस घटना की सूचना मिलने के बाद पूरे जिले में मातम का माहौल है. परिवार के लोगों को अपने लाल को खोने का गम सता रहा है, लेकिन इस बात पर गौरव भी है कि उनके घर का लाल भारत माता की सुरक्षा में अपनी जान की कुर्बानी दे दी.

गुमला जिला के बसिया प्रखंड का ममरला गांव आज अपने वीर बेटे संतोष गोप की शहादत के कारण इतिहास के पन्नो में अंकित हो गया. इस गांव को भले ही पहले लोग नहीं जानते थे, लेकिन संतोष गोप की शहादत को याद कर पूरा देश इस गांव को जान पाएगा. भारतीय सेना में भर्ती होने के लिए 2012 में रांची में परीक्षा पास करने के बाद संतोष गोप की पोस्टिंग जम्मू-कश्मीर में हुई थी. कल शनिवार 12 अक्टूबर की रात में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन करते हुई गोलीबारी में भारत का लाल संतोष गोप शहीद हो गया.

अस्पताल में चिकित्सकों ने संतोष की जान बचाने की काफी कोशिश की

इसकी जानकारी परिवार के लोगों को रात में ही मिल गई थी. संतोष के चचेरे भाई निलेश्वर गोप की माने तो उन्हें रात में ही भाई की शहादत की सूचना मिल गई थी. उन्हें बताया गया कि संतोष के घायल होने के बाद उसे अस्पताल में ले जाकर बचाने की कोशिश हुई, लेकिन उसे चिकित्सक नहीं बचा पाए. वहीं संतोष की माँ की माने तो बेटा नौकरी में जाने के बाद काफी खुश था. उसने गुमला शहर में घर के निर्माण के लिए जमीन भी खरीदी, जिसपर निर्माण कार्य चल रहा है. उनका बेटा जून में जब घर आया था तब उसने शादी के लिए लड़की ढूढ़ने की बात कही थी. इसके लिए परिवार के लोग तैयारी भी कर रहे थे, लेकिन ईश्वर को कुछ और ही मंजूर था.

पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन करते हुई गोलीबारी में भारत का लाल संतोष गोप शहीद हो गया.


संतोष की शहादत की खबर सुनने के बाद उसके पिता जितु गोप कुछ बोलने की स्थिति में नहीं हैं. संतोष के बड़े पिता की माने तो संतोष जब आर्मी में बहाल हुआ तब परिवार के लोग खूब खुश हुए. इससे संतोष के परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधार आया. लेकिन अचानक ऐसी घटना घट जाने से उन्हें काफी दुख है. संतोष की भाभी ने कहा कि वह अक्सर बात कर परिवार का हाल समाचार लेता रहता था. उसने बीते शुक्रवार को भी फोन पर बातचीत की थी. वह नए साल में घर आने की बात कह रहा था.

ये भी पढ़ें - रैली के लिए मोरहाबादी मैदान नहीं मिलने से गुस्से में JMM
Loading...

ये भी पढ़ें - पब्जी के शौक ने बना दिया अपराधी, गेम की चाहत ने पहुंचाया सलाखों के पीछे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 7:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...