Home /News /jharkhand /

Jharkhand Scam: बाइक को कार दिखाकर निकाले पैसे, फर्जी नाम-पते वाले 400 को टीए-डीए

Jharkhand Scam: बाइक को कार दिखाकर निकाले पैसे, फर्जी नाम-पते वाले 400 को टीए-डीए

Hazaribagh Corruption News: हजारीबाग पेयजल एवं स्‍वच्‍छता विभाग में व्‍यापक पैमाने पर वित्‍तीय अनियमितता सामने आई है. (सांकेतिक तस्‍वीर)

Hazaribagh Corruption News: हजारीबाग पेयजल एवं स्‍वच्‍छता विभाग में व्‍यापक पैमाने पर वित्‍तीय अनियमितता सामने आई है. (सांकेतिक तस्‍वीर)

Corruption in Drinking Water and Sanitation Department: हजारीबाग प्रमंडल के पेयजल एवं स्‍वच्‍छता विभाग में बड़े पैमाने पर भ्रष्‍टाचार सामने आया है. स्‍वच्‍छ भारत मिशन कार्यालय निदेशालय की टीम की छानबीन में यह मामला उजागर हुआ . विभाग में कॉन्‍ट्रैक्‍ट पर कार्यरत 2 कर्मचारियों की सेवाएं समाप्‍त कर दी गई हैं. अन्‍य कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी है.

अधिक पढ़ें ...

    हजारीबाग. झारखंड के हजारीबाग प्रमंडल के पेयजल एवं स्‍वच्‍छता विभाग में व्‍यापक पैमाने पर वित्‍तीय अनियमि‍तता सामने आई है. स्‍वच्‍छ भारत मिशन के तहत वर्ष 2014 से साल 2018 तक शौचालय निर्माण और जागरूकता कार्यक्रम पर सरकारी धनराशि खर्च होनी थी. जांच में पता चला है कि इस मद के लिए आवंटित राशि में से अफसरों ने करोड़ों रुपए अपनी सुख-सुवधिाओं पर खर्च कर दिए. स्‍वच्‍छ भारत मिशन कार्यालय निदेशालय की 4 सदस्‍यीय टीम ने इस घोटाले का खुलासा किया है. विभाग में सरकारी धनराशि के दुरुपयोग का आलम यह है कि बाइक को कार बताकर पैसे निकाल लिए गए. हजारीबाग पेयजल एवं स्‍वच्‍छता विभाग की ओर से संबंधित अवधि में लगभग 1 हजार करोड़ रुपए खर्च किए गए.

    जांच टीम ने 26 जुलाई 2021 को योजना स्थलों का निरीक्षण, अकाउंट रिपोर्ट और रकम के खर्च के ब्‍योरे की छानबीन के बाद गड़बड़ी का खुलासा हुआ . जांच के बाद कॉन्‍ट्रैक्‍ट पर कार्यरत 2 कर्मचारियों को कार्यमुक्‍त करने का आदेश दिया गया है. इस गड़बड़ी में शामिल अन्‍य कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई होनी है. जांच रिपोर्ट के बाद विभाग में खलबली मची हुई है.

    RIMS के न्‍यूरो वार्ड से गायब मरीज का 4 दिन बाद मिला शव, परिजनों ने लगाया अंग गायब होने का आरोप

    कागजों में बाइक को बना दिया कार

    पेयजल एवं स्‍वच्‍छता विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों ने भ्रष्‍टाचार की नई कहानी लिखी है. हजारीबाग प्रमंडल में आने वाले पलामू जिले में 3 साल पुरानी एक बाइक को कागजों में कार बताकर पैसे निकाल लिए गए. अभ्‍यर्थियों को बाइक से प्रशिक्षण के लिए लाया गया, जबकि पैसे की निकासी कार के मद में कर ली गई. स्‍वच्‍छ भारत मिशन कार्यालय निदेशालय की जांच टीम ने छानबीन के दौरान इसका खुलासा किया.

    400 फर्जी लोगों के नाम पर टीए-डीए

    भ्रष्‍ट अधिकारियों ने फर्जी तरीके से टीए-डीए की भी निकासी कर ली. जांच रिपोर्ट में सामने आया कि विभाग द्वारा 400 फर्जी नाम और पते पर टीए-डीए की निकासी की गई. यहां तक की 2 एजेंसियों का जीएसटी नंबर भी एक पाया गया है और उन्‍हें लाखों का भुगतान कर दिया गया. ‘प्रभात खबर’ की रिपोर्ट के अनुसार, जांचं रिपोर्ट में बरही के रानीचुआं गांव में 100 शौचालय के निर्माण पर भुगतान किया गया. जब छानबीन की गई तो पता चला कि 32 लाभुकों का नाम ही नहीं है, लेकिन उनके नाम पर सरकारी धन की निकासी कर ली गई.

    Tags: Hazaribagh news, Swachh Bharat Mission

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर