होम /न्यूज /झारखंड /हजारीबागः जल मीनार के निर्माण कार्य में हो रही देरी, जलापूर्ति शुरू नहीं होने से लोगों की बढ़ी परेशानी

हजारीबागः जल मीनार के निर्माण कार्य में हो रही देरी, जलापूर्ति शुरू नहीं होने से लोगों की बढ़ी परेशानी

जल मीनार के निर्माण कार्य में हो रही देरी

जल मीनार के निर्माण कार्य में हो रही देरी

जिला पेयजल स्वच्छता अभियान पदाधिकारी मनोज मुंडारी ने न्यूज18 लोकल को बताया कि संवेदकों को जल मीनार के निर्माण कार्य में ...अधिक पढ़ें

    सुबोध कुमार गुप्ता/हजारीबाग. हजारीबाग के बड़कागांव प्रखंड में जल एवं स्वच्छता विभाग की ओर से अलग-अलग पंचायतों में तीन जल मीनार का निर्माण कार्य किया जा रहा है. जिसका उद्देश्य लोगों को पानी की सुविधा घर-घर तक पहुंचाना है. लेकिन निर्माण कार्य की धीमी रफ्तार से योजना की शुरुआत में देरी हो रही है. जल मीनारों का निर्माण कार्य का शुभारंभ अलग-अलग अवधि में किया गया था. तीनों की कुल लागत 18 करोड़ रूपये प्रस्तावित है.

    कई बार समय सीमा समाप्त होने के बाद इसे सितंबर 2022 में चालू करने का लक्ष्य रखा गया था. लेकिन अभी भी कार्य अधूरा पड़ा है. इससे बड़कागांव पूर्वी, कांडतरी एवं सिरमा पंचायत के करीब 33 हजार की आबादी लाभान्वित होगी. लेकिन जलापूर्ति शुरू नहीं होने से इलाके के लोग पानी के लिए इधर-उधर भटक रहे हैं.

    सबसे पहले बड़कागांव प्रखंड मुख्यालय स्थित बीडीओ आवास के समीप 6 वर्ष पूर्व 2016 में जल मीनार का कार्य प्रारंभ हुआ था. जिसका काम अब तक पूर्ण नहीं हो सका है. इसके कई काम अधूरे पड़े हैं. कार्य की रफ्तार को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि काम पूरा होने में अभी 2 वर्षों का समय और लगेगा. इस जल मीनार में लगभग 10,000 लोगों को पीने का शुद्ध पानी मुहैया कराने का लक्ष्य रखा गया है.

    वहीं सिरमा पंचायत के नयाटाड बाजार के समीप 2018 में जल मीनार का काम शुरू कराया गया था. काम की गति तेज थी. लेकिन जमीन विवाद के कारण काम को बंद करवा दिया गया. हालांकि निर्माण कार्य में हो रहे विलंब को लेकर मुखिया लीलावती कुमारी एवं पंचायत समिति सदस्य प्रभु राम ने कहा है कि संवेदक एवं ग्रामीणों की आपसी सामंजस्य के बाद जल्द से जल्द काम शुरू कराया जाएगा. जल मीनार योजना से पंचायत के लगभग 8000 ग्रामीण लाभान्वित होंगे.

    कांडतरी पंचायत अंतर्गत बुढ़वा महादेव में 2019 में जल मीनार का निर्माण कार्य शुरू हुआ था. शुरू में इसके निर्माण में भी विवाद हुआ था. लेकिन उसे निपटा लिया गया. अब यह लगभव बनकर तैयार है, लेकिन चालू नहीं किया गया हैं. इस योजना के तहत करीब 15,000 ग्रामीणों तक शुद्ध पानी पहुंचाने का लक्ष्य है.

    तीन महीने में शुरू होगी जल आपूर्ति
    इस संबंध में जिला पेयजल स्वच्छता अभियान पदाधिकारी मनोज मुंडारी ने कहा कि संवेदकों को जल मीनार के निर्माण कार्य में तेजी लाने को कहा गया है. जल्द ही लोगों को इस योजना का लाभ मिलेगा. वहीं विभाग के जेई प्रदीप तिर्की ने कहा कि 3 महीने के अंदर बड़कागांव के विभिन्न घरों में शुद्ध पेयजल पहुंचाने का कार्य शुरू किया जाएगा.

    Tags: Hazaribagh news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें