अपना शहर चुनें

States

यशवंत सिन्हा की वजह से सीपीआई को नहीं मिली हजारीबाग सीट- भुवनेश्वर मेहता

सीपीआई नेता भुवनेश्वर मेहता
सीपीआई नेता भुवनेश्वर मेहता

सीपीआई नेता ने आरोप लगाया कि यशवंत सिन्हा ने ही कांग्रेस नेतृत्व पर दबाव डालकर हजारीबाग सीट सीपीआई को नहीं देने दिया.

  • Share this:
हजारीबाग में सीपीआई नेता भुवनेश्वर मेहता ने कहा कि वामदलों को महागठबंधन में शामिल नहीं किए जाने का सीधा लाभ भाजपा को मिलेगा. हजारीबाग में भाजपा को रोकने की ताकत सिर्फ सीपीआई ही रखती है. सीपीआई नेता ने यह भी आरोप लगाया कि यशवंत सिन्हा ने ही कांग्रेस नेतृत्व पर दबाव डालकर हजारीबाग सीट सीपीआई को नहीं देने दिया.

भुवनेश्वर के मुताबिक आगामी 28 मार्च को रांची में सीपीआई की अहम बैठक होगी, जिसमें हजारीबाग लोकसभा सीट को लेकर जीत की रणनीति बनाई जाएगी. साथ ही अन्य सीटों पर भी चुनाव लड़ने को लेकर फैसला लिया जा सकता है. बता दें कि सीपीआई उम्मीदवार के रूप में भुवनेश्वर मेहता हजारीबाग सीट पर चुनावी मैदान में हैं. हालांकि सीपीआई की पूरी कोशिश थी कि महागठबंधन के तहत यह सीट उसे मिले. लेकिन महागठबंधन ने वामदलों को किनारा कर दिया.

इधर भाकपा माले ने पलामू और कोडरमा से अपने प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है. पलामू से सुषमा मेहता और कोडरमा से राजकुमार यादव उम्मीदवार होंगे. महागठबंधन पर निशाना साधते हुए दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा कि जिस तरह का गठबंधन बनना चाहिए था, वैसा नहीं बना. बगैर वामदल महागठबंधन सिर्फ गठबंधन है. वह महागठबंधन नहीं बन पाया.



रिपोर्ट- राकेश कुमार
ये भी पढ़ें- पलामू और कोडरमा से CPI(ML) उम्मीदवारों का ऐलान, अन्नपूर्णा को लेकर बीजेपी पर बरसे दीपांकर

सुबोधकांत से मिले सीपीआई नेता भुवनेश्वर मेहता, हजारीबाग सीट को लेकर की चर्चा

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज