अपना शहर चुनें

States

हजारीबाग में निजी कंपनी के AGM की गोली मारकर हत्या, PLFI ने ली जिम्मेदारी

घटना के बाद डीआईजी ने मौके पर पहुंचकर छानबीन की
घटना के बाद डीआईजी ने मौके पर पहुंचकर छानबीन की

एजीएम गोपाल सिंह को प्रशासन के द्वारा बॉडीगार्ड भी मुहैया कराया गया था. लेकिन घटना के वक्त बॉडीगार्ड उनके साथ नहीं थे. साथ ही वो ऑटो में क्यों जुलू पार्क पहुंचे थे. पुलिस (Police) इन सभी बिंदुओं पर छानबीन में जुटी है.

  • Share this:
हजारीबाग. सदर थानाक्षेत्र के जुलू पार्क इलाके में त्रिवेणी सैनिक कंपनी के एजीएम (AGM) को अज्ञात अपराधी ने गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी. गोलीबारी की जानकारी मिलते ही डीआईजी, एसपी समेत कई अधिकारी मौके पर पहुंचे और छानबीन की. घटना के बाबत बताया गया कि बुधवार रात एजीएम गोपाल सिंह जुलू पार्क इलाके में एक कनीय पदाधिकारी के घर उनसे मिलने पहुंचे थे. लेकिन मुलाकात के बाद जैसे ही वह घर से बाहर निकलकर ऑटो में बैठने लगे, उसी दौरान एक युवक ने उन्हें गोली मार दी. जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई.

एजीएम गोपाल सिंह को प्रशासन के द्वारा बॉडीगार्ड भी मुहैया कराया गया था. लेकिन घटना के वक्त बॉडीगार्ड उनके साथ नहीं थे. साथ ही वो ऑटो में क्यों जुलू पार्क पहुंचे थे. पुलिस इन सभी बिंदुओं पर छानबीन में जुटी है. मृतक गोपाल सिंह बिहार के औरंगाबाद के रहने वाले थे और हजारीबाग में पटवारी इलाके में एक फ्लैट में रहते थे. इधर, पीएलएफआई ने फोन कर इस हत्या की जिम्मेदारी ली है. त्रिवेणी सैनिक कंपनी एनटीपीसी के लिए कोयला खनन का काम करती है.

डीआईजी पंकज कंबोज ने कहा कि इस सिलसिले में बॉडीगार्ड से पूछताछ की जाएगी, वे घटना के वक्त एजीएम के साथ मौजूद क्यों नहीं थे. साथ ही अपनी कार के बदले एजीएम ऑटो में क्यों पहुंचे थे. ऑटो से लौटते वक्त एक युवक ने उनको गोली मार दी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई. कनीय पदाधिकारी के घरवालों से भी पूछताछ होगी.



(रिपोर्ट- राकेश कुमार)
ये भी पढ़ें- हैंडओवर से 5 दिन पहले नई झारखंड विधानसभा में लगी आग, करोड़ों का सामान जलकर खाक

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज