होम /न्यूज /झारखंड /

राहगीरों से शाम में ही लूटपाट, सूचना के बाद भी पुलिस नहीं आई

राहगीरों से शाम में ही लूटपाट, सूचना के बाद भी पुलिस नहीं आई

एक जगह इकट्ठा हुए लूट के शिकार

एक जगह इकट्ठा हुए लूट के शिकार

    चतरा जिला में शाम सात-आठ बजे के करीब हथियारों से लैस लुटेरों ने राहगीरों से घंटों तक लूटपाट की. लूटपाट करने के बाद लुटेरे पुलिस के भय के बिना आराम से चलते भी बने. हालांकि रात में घटी घटना के समय ही पुलिस को इसकी सूचना दी गई थी, लेकिन समय पर पुलिस नहीं आई. अब आज बुधवार की सुबह से पुलिस ने अपराधियों के विरुद्ध छापेमारी अभियान शुरू की है.

    जानकारी के अनुसार राजपुर थाना क्षेत्र के सवैयागढ़ा गांव के पास अपराधियों ने दर्जनों मोटरसाइकिल में सवार होकर लूटपाट की. इस लूट का शिकार सेना का एक जवान भी हुआ. ग्रामीणों ने कहा कि तकरीबन दस हथियार बंद अपराधियों ने लूट की घटना को अंजाम दिया. अपराधियों ने सभी पीड़ितों को पेड़ से बांध भी दिया और जाते जाते एक मोटरसाइकिल लेकर भी भाग गए.

    लूट का शिकार हुए एक ग्रामीण रिंकु कुमार ने कहा कि सवैयागढ़ा के पास अपराधी हथियार का भय दिखाकर राहगीरों को पास के जंगल में पेड़ से बांध कर लूटपाट कर रहे थे. उसने कहा कि उसके साथ भी ऐसा ही सलूक किया गया. अपराधियों ने जब उसे पेड़ से बांधा तब वहां पहले से ही 15 से 20 लोगों को पेड़ से बांधकर उनसे लूटपाट की जा चुकी थी. लूट का शिकार चार महिलाएं भी हुईं. उसने कहा कहा कि जब अपराधी एक-एक कर भाग गए तब किसी तरह उसने खुद को बांधे गए पेड़ से मुक्त कर इसकी शिकायत थाने में की.

    लूट का शिकार ग्रामीणों ने कहा कि करीब एक लाख रूपयों की लूटपाट की गई है जिसकी सूचना पुलिस को दे दी गई है. दूसरी तरफ राजपुर थाना प्रभारी एस. के. सिंह ने कहा कि अपराधियों की धरपकड़ को लेकर अभियान चलाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बहुत जल्द ही अपराधिओं को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

    Tags: Jharkhand news, Loot, Police

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर