विभाग के पास खराब चापाकलों की मरम्मत के लिए फंड नहीं

इस वर्ष विभाग ने फंड के अभाव में खराब पड़े चापाकलों की मरम्मत कराने से हाथ खींच लिया है. ऐसे में ग्रामीण क्षेत्रों में चापाकलों की मरम्मत में परेशानी आने की संभावना है.

ETV Bihar/Jharkhand
Updated: March 14, 2018, 4:22 PM IST
विभाग के पास खराब चापाकलों की मरम्मत के लिए फंड नहीं
खराब चापाकलों की मरम्मत के लिए विभाग के पास पैसं नहीं
ETV Bihar/Jharkhand
Updated: March 14, 2018, 4:22 PM IST
गर्मी के दस्तक देते ही कोडरमा के ग्रामीण क्षेत्रों में चापाकल हांफने लगे हैं. कई चापाकल खराब हो चुके हैं और कई दिनभर इस्तेमाल होने की वजह से खराब हो जाने के क्रम में हैं. वहीं इस वर्ष विभाग ने फंड के अभाव में खराब पड़े चापाकलों की मरम्मत कराने से हाथ खींच लिया है. ऐसे में ग्रामीण क्षेत्रों में चापाकलों की मरम्मत में परेशानी आने की संभावना है.

पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता विनोद कुमार ने कहा कि हर साल विभाग से गर्मी के लिए फंड उपलब्ध कराया जाता था जिससे खराब चापाकलों की मरम्मत की जाती थी. पर इस वर्ष विभाग ने राशि उपलब्ध कराने से इंकार कर दिया है. 14वें वित्त आयोग की राशि से चापाकलों की मरम्मत करने का निर्देश जारी किया गया है. इसको लेकर सभी पंचायतों में जल पंचायत लगाकर खराब चापाकलों का आंकड़ा तैयार किया जा रहा है. इसके बाद ही जिला से राशि उपलब्ध होने पर नलकूपों की मरम्मत हो पाएगी.

चाराडीह की मुखिया अंजु देवी ने सब कुछ समय से ठीक हो जाने का भरोसा दिलाते हुए कहा कि हमलोगों ने जल पंचायत की बैठक कर रिपोर्ट प्रखंड को सौंप दिया है. दिशा निर्देश मिलने पर चापाकलों की मरम्मत का काम शुरू करा दिया जाएगा. यानि इस बढ़ती गर्मी में खराब चापाकलों की मरम्मत के लिए और इंतजार करना पड़ेगा.
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Jharkhand News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर