होम /न्यूज /झारखंड /हजारीबाग के किसानों ने ऑनलाइन फसल बिक्री में बनाया रिकॉर्ड, enam पोर्टल पर किया 9.6 करोड़ का व्यापार

हजारीबाग के किसानों ने ऑनलाइन फसल बिक्री में बनाया रिकॉर्ड, enam पोर्टल पर किया 9.6 करोड़ का व्यापार

बाजार समीति के मार्केट सचिव रवि रंजन ने बताया कि इनाम पोर्टल के माध्यम से हजारीबाग के किसानों का व्यापार लगातार बढ़ रहा ...अधिक पढ़ें

    सुबोध कुमार गुप्ता/हजारीबाग. हजारीबाग के किसानों ने कृषि उत्पाद के ऑनलाइन व्यापार में पूरे झारखंड में अव्वल स्थान हासिल किया है. चालू वित्तीय वर्ष में यहां के किसानों ने 9 करोड़ 60 लाख रुपए का ऑनलाइन व्यापार किया है. यह व्यापार eNam पोर्टल के माध्यम से किया गया है. जहां किसान 291 तरह के उत्पादों की ऑनलाइन बिक्री करते हैं.

    हजारीबाग के किसान साल 2016 से इस पोर्टल से जुड़ शुरू किए थे. पहले वित्तीय वर्ष 2016-17 में 50 हजार रूपये का व्यापार हुआ था. वर्ष 2017-18 में 19.56 लाख रूपये, वर्ष 2018-19 में 50.39 लाख रूपये, वर्ष 2019-20 में 142.9 लाख रूपये, वर्ष 2020-21 में 412.75 लाख और वर्ष 2021-22 में 960 लाख रूपये का व्यापार हजारीबाग से हुआ है. वहीं 197 लाखों रुपए का व्यापार कर देवघर दूसरे और 133 लाखों रुपए का व्यापार कर गढ़वा तीसरे स्थान पर रहा.

    किसान व व्यापारियों को मिला बाजार

    बाजार समीति के मार्केट सचिव रवि रंजन ने न्यूज18 लोकल को बताया कि भारत सरकार द्वारा इनाम पोर्टल की शुरुआत की गई है. यह किसान व व्यापारियों के बीच सेतु के काम करता है. पोर्टल के माध्यम से किसान को बाजार उपलब्ध कराया गया है. इसकी मदद से वह अपनी फसल को देशभर में कहीं भी बेच सकते हैं. साथ ही देशभर के व्यापारियों के लिए भी माल खरीदने के लिए विकल्प बढ़ गए हैं.

    हजारीबाग के किसानों का व्यापार इसके माध्यम से लगातार बढ़ रहा है. यहां इनाम पोर्टल शुरू होने के बाद पहले वित्तीय वर्ष में मात्र 50 हजार रुपये का व्यापार हुआ था. यह बढ़कर चालू वित्तीय वर्ष में अभी तक 9 करोड़ 60 लाख रुपये तक पहुंच गया है. जिला प्रशासन की ओर से लगातार किसानों को इससे जोड़ने की पहल की जा रही है.

    इनाम पोर्टल से ऐसे जुड़ें किसान
    अपने स्मार्टफोन में प्ले स्टोर से eNam पोर्टल डाउनलोड करें. इसके बाद किसान अपना आधार कार्ड, ईमेल आईडी व बैंक अकाउंट नंबर से खुद को रजिस्टर्ड करें. किसान अपने कृषि उत्पाद का फोटो खींचकर पोर्टल पर अपलोड करें. उत्पाद पंसद आने पर व्यापारी आपसे संपर्क करेंगे. उत्पाद के बदले में किसान के बैंक खाता में पैसे ट्रांसफर किया जाता है. यदि किसान समार्ट फोन चलाने में सक्षम नहीं हैं तो बाजार समिति से संपर्क करें. वहां आपके उत्पाद को सैंपल पोर्टल पर अपलोड कर दिया जाएगा.

    Tags: Hazaribagh news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें