अपना शहर चुनें

States

आश्रम में अनाथ बनकर रहा था नक्सली, पुलिस ने दबोचा

नक्सली लालजीत गंझू खुद को अनाथ बताकर भारत सेवा आश्रम में जुलाई से रह रहा था.
नक्सली लालजीत गंझू खुद को अनाथ बताकर भारत सेवा आश्रम में जुलाई से रह रहा था.

रांची पुलिस (Ranchi Police) के मुताबिक लालजीत गंझू खुद को अनाथ बताकर भारत सेवा आश्रम में इसी साल जुलाई से रह रहा था. हजारीबाग पुलिस (Hazaribagh Police) को हत्या, लेवी समेत कई मामलों में उसकी तलाश थी.

  • Share this:
हजारीबाग. एसपी मयूर पटेल (Mayur Patel) को मिली गुप्त सूचना के आधार पर जेपीसी नक्सली संगठन (JPC) के सक्रिय सदस्य लालजीत गंझू उर्फ सूरज गंझू को रांची से गिरफ्तार (Arrest) कर लिया गया. लालजीत गंझू राजधानी के तुपुदाना इलाके में स्थित भारत सेवा आश्रम में पहचान बदलकर रह रहा था. वह यहां गाड़ी चलाने का काम करता था. लालजीत पर हत्या, दहशत फैलाने और लेवी वसूलने के कई मामले केरेडारी थाने में दर्ज हैं.

बड़कागांव डीएसपी अनिल सिंह ने बताया कि वर्ष 2014 में केरेडारी थाना क्षेत्र में किरण शर्मा की हत्या हुई थी. इस मामले में मुख्य आरोपी लालजीत गंझू ही है. डीएसपी के मुताबिक वर्ष 2017 में कोयला कंपनियों से लेवी मांगने की योजना बनाने के दौरान लालजीत का एक सहयोगी हथियार और नक्सली पर्चा के साथ पकड़ा गया था. केरेडारी में दहशत फैलाने के उद्देश्य से एक स्कूल में बम फेंकने का भी आरोप लालजीत पर है. बतौर डीएसपी पूछताछ में लालजीत ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को स्वीकार किया है.

रांची पुलिस के मुताबिक लालजीत गंझू खुद को अनाथ बताकर भारत सेवा आश्रम में इसी साल जुलाई से रह रहा था. हजारीबाग पुलिस को काफी दिनों से उसकी तलाश थी. तकनीकी शाखा के इनपुट पर केरेडारी थानाप्रभारी बमबम यादव और तुपुदाना ओपी प्रभारी तारीक अनवर ने लालजीत गंझू को गिरफ्तार किया.



रिपोर्ट- राकेश कुमार
ये भी पढ़ें- झारखंड में 11 IPS अफसरों का तबादला, दो को मिला अतिरिक्त प्रभार

 

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज