झारखंड के इस यूनिवर्सिटी में होगा अदिवासियों के इतिहास पर शोध
Hazaribagh News in Hindi

झारखंड के इस यूनिवर्सिटी में होगा अदिवासियों के इतिहास पर शोध
विनोवा भावे विश्वविद्यालय में सेंटर आफ ट्राईबल स्टडीज खोले जाने की घोषणा करते जयंत सिन्हा

हजारीबाग विनोवा भावे विश्वविद्यालय में अब एक और पढ़ाई की संस्था स्थापित होने जा रहा है. इस विश्वविद्यालय में सेंटर आफ ट्राईबल स्टडीज खोलने जा रहा है जिसकी घोषणा गुरुवार को केंद्रीय राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने अपने कार्यालय में की.

  • Share this:
हजारीबाग विनोवा भावे विश्वविद्यालय में अब एक और पढ़ाई की संस्था स्थापित होने जा रहा है. इस विश्वविद्यालय में सेंटर आफ ट्राईबल स्टडीज खोलने जा रहा है जिसकी घोषणा गुरुवार को केंद्रीय राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने अपने कार्यालय में की. उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए हर्ष जताते हुए कहा कि आदिवासी समाज और संस्कृति काफी साल पुरानी है और इसको जानने और शोध की आवश्यकता है. इसके लिए  विनोबा भावे विश्वविद्यालय में यह स्टडीज सेंटर को स्थापित किया जा रहा है. इस केंद्र को स्थापित करने के लिए सभी जगह से मंजूरी मिल गई है.

केंद्रीय राज्य मंत्री ने बताया कि 6 से 7 करोड़ रुपए की लागत से इसके भवन बनाए जाएंगे. उन्होंने उम्मीद जताया है की राज्य स्थापना दिवस के बाद इसका शिलान्यास मुख्यमंत्री के हाथों किया जाएगा. मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि इस केंद्र के अंदर में म्यूजियम भी होगा जो पर्यटकों के लिए या अन्य लोगों के लिए भी बेहद उपयोगी साबित होगा. हजारीबाग के लोगों की काफी पुरानी मांग थी जिसको कि हम लोग पूरा कर रहे हैं.विदित हो कि झारखंड राज्य में आदिवासी बहुतायत में हैं, जिनका खान-पान संस्कृति रस्मो रिवाज सबसे अलग हैं.

यह भी पढ़ें - एक साल का फूल सा मासूम बैग में छोड़ गए निर्दयी



यह भी देखें- VIDEO : भारी मात्रा में पाकुड़ लाया जा रहा विस्फोटक बरामद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज