Home /News /jharkhand /

गणतंत्र दिवस पर दिल्ली के राजपथ पर नजर आएंगी झारखंड की सोहराई पेंटिंग्स

गणतंत्र दिवस पर दिल्ली के राजपथ पर नजर आएंगी झारखंड की सोहराई पेंटिंग्स

हजारीबाग के कई कलाकार दिल्ली के राजपथ पर सोहराई कला को उकेरने में जुटे हुए हैं.

हजारीबाग के कई कलाकार दिल्ली के राजपथ पर सोहराई कला को उकेरने में जुटे हुए हैं.

Republic Day Preparation: झारखंड की सोहराई पेंटिंग्स का इतिहास 5000 वर्ष पुराना है. हजारीबाग जिले के बड़कागांव के इस्को गुफा की दीवारों पर इसे आज भी देखा जा सकता है. गणतंत्र दिवस पर नई दिल्ली के राजपथ के दोनों ओर की दीवारों पर सोहराई पेंटिंग्स नजर आएंगी. हजारीबाग के कई कलाकार दिन-रात एक कर राजपथ की दीवारों पर सोहराई कला को उकेर रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट- जावेद खान

हजारीबाग. झारखंड के हजारीबाग की प्राचीन कलाकृति सोहराई पेंटिंग्स गणतंत्र दिवस के अवसर पर नई दिल्ली के राजपथ पर नजर आएंगी. हजारीबाग सहित पूरे झारखंड के लिए यह गर्व की बात होगी. ऐसा पहली बार है जब गणतंत्र दिवस के मौके पर नई दिल्ली के राजपथ पर झारखंड की किसी लोक कलाकृति की प्रदर्शनी लगने जा रही है.

झारखंड की सोहराई पेंटिंग्स का इतिहास 5000 वर्ष पुराना है. हजारीबाग जिले के बड़कागांव के इस्को गुफा के दीवारों पर इसे आज भी देखा जा सकता है. गणतंत्र दिवस पर नई दिल्ली के राजपथ के दोनों ओर की दीवारों पर सोहराई पेंटिंग नजर आएंगी. हजारीबाग से कई कलाकार इस पेंटिंग्स को दिन-रात एक कर राजपथ के दोनों ओर की दीवारों पर उकेर रहे हैं.

गणतंत्र दिवस पर जब देश-विदेश के लोग राजपथ की दीवारों पर सोहराई कलाकृति को देखेंगे तो इसे राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक नई पहचान मिलेगी. वैसे सोहराई कला को हजारीबाग के रहने वाले पद्मश्री  बुलु इमाम ने विश्व पटल पर एक अलग पहचान  दिलाई है. आज उनके परिवार की अलका इमाम औऱ अन्य सदस्य इस प्राचीन धरोहर और कला को आगे बढ़ाने के लिए दिन-रात मेहनत कर रहे हैं. आज उन्हीं के मेहनत और प्रयास का नतीजा  है कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ की दीवारों पर हजारीबाग की यह प्राचीन सोहराई पेंटिंग्स अपनी खूबसूरती को बिखेरेगी.
क्या है सोहराई-कोहबर कला?
सोहराई ओर कोहबर कला झारखंड की अति प्राचीन लोक चित्रकारी है. गांव की महिलाएं घरों के मिट्टी की दीवारों पर काली औऱ दूधी मिट्टी के साथ कंघी के टुकड़ों से पशु ,पंछी, फूल आदि प्राकृतिक चीजों के चित्र उकेरती हैं. इसे बनाने में सिर्फ चार प्रकार के रंग लाल, पीली, दूधी और काली मिट्टी का प्रयोग किया जाता है.

Tags: Delhi news, Hazaribagh news, Jharkhand news, Republic Day Celebration

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर