होम /न्यूज /झारखंड /

भोक्ता समाज को लेकर दो भाजपा विधायक आमने-सामने

भोक्ता समाज को लेकर दो भाजपा विधायक आमने-सामने

जय प्रकाश सिंह, भोक्ता भोक्ता समाज को आदिवासी जाति में शामिल करने की मांग कर रहे हैं.

जय प्रकाश सिंह, भोक्ता भोक्ता समाज को आदिवासी जाति में शामिल करने की मांग कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री किसकी मांग पूरी करते हैं ये भी दिलचस्प होगा.

    भोक्ता समाज को आदिवासी जाति में शामिल करने को लेकर चतरा के दो भाजपा विधायक आमने सामने आ गए हैं. जहां एक ओर चतरा के भाजपा विधायक जयप्रकाश सिंह भोक्ता सूबे के मुख्यमंत्री रघुवर दास से मिलकर भोक्ता समाज को आदिवासी जाति में शामिल करने की मांग की है, वहीं दूसरी ओर चतरा के सिमरिया विधानसभा सीट से जीत कर आए भाजपा विधायक सह झारखंड मार्केटिंग बोर्ड के चेयरमैन गणेश गंझू ने भोक्ता समाज को आदिवासी जाति में शामिल करने की मांग पर विरोध जताते हुए मुख्यमंत्री से मुलाकात की.

    इसी कड़ी में आज बुधवार को राज्य सरकार के तीन साल की उपलब्धियों को लेकर चतरा परिषदन में आयोजित प्रेस कांफ्रेस में चतरा विधायक जय प्रकाश सिंह भोक्ता ने बयान दिया कि विधायक बन जाने से समाज का विकास नहीं हो सकता. कुछ लोग एससी में रहेंगे तो विधायक रहेंगे. मालूम हो कि कुछ दिन पूर्व विधायक जय प्रकाश सिंह भोक्ता ने अपने समाज के लोगों के साथ मुख्यमंत्री से मिलकर भोक्ता समाज को एसटी में शामिल करने के लिए मांग पत्र सौंपा है. वहीं दूसरी ओर चतरा जिला के सिमरिया विधायक सह मार्केटिंग बोर्ड के चेयरमैन गणेश गंझू ने भी मुख्यमंत्री से मांग की है कि भोक्ता समाज को एसटी में शामिल नहीं किया जाए.

    अब ऐसे में मुख्यमंत्री किसकी मांग पूरी करते हैं ये भी दिलचस्प होगा. चतरा के विधायक ने साफ तौर पर कहा कि जो लोग विरोध कर रहे हैं, हम उनका नाम नहीं लेना चाहेंगे. उन्होंने कहा कि उन लोगों में
    जानकारी का अभाव है जो लोग भोक्ता समाज को आदिवासी जाति में शामिल करने से रोक रहे हैं. भोक्ता जाति खैरवार जाति की उप जाति है और हमारी मूल जाती खैरवार है. जबकि खैरवार को एसटी में शामिल
    किया गया है. इस मामले में सरकार का फैसला जिसके पक्ष में जाए, पर जिले के दोनों विधायकों के बीच मदभेद साफ तौर पर इस बयान से दिख रहा है.

     

    Tags: झारखंड

    अगली ख़बर