अपना शहर चुनें

States

हजारीबाग के कोर्रा थाना क्षेत्र में गड्ढे में डूबने से 2 बच्चों की मौत

डॉक्टर ने एक बच्चे को CPR के जरिए बचाने की काफी कोशिश मगर सफलता नहीं मिली.
डॉक्टर ने एक बच्चे को CPR के जरिए बचाने की काफी कोशिश मगर सफलता नहीं मिली.

चिकित्सक ने कहा कि एक बच्चे को बचाने की 2 से 4 प्रतिशत उम्मीद थी. करीब एक घंटे तक सीपीआर (CPR) के जरिए बच्चे को बचाने की कोशिश की गई मगर सफलता नहीं मिली.

  • Share this:
हजारीबाग. झारखंड के हजारीबाग (Hazaribagh) जिले में कोर्रा थाना क्षेत्र के मटवारी मैदान में गड्ढे (Pit) में डूबने से 2 बच्चों की मौत (Death by Drowning) हो गई. मृतक बच्चों का नाम आयुष रंजन और प्रिंस कुमार है. दोनों बच्चों की उम्र लगभग 10 वर्ष के आसपास बताई जा रही है. जानकारी के अनुसार दोनों बच्चे घर से खेलने के लिए मटवारी मैदान गए थे जहां एलएनटी कंपनी द्वारा सप्लाई वाटर टंकी बनाने का कार्य किया जा रहा था. कार्य करने के लिए गड्ढे बनाए गए थे. उसी गड्ढे में बरसाती पानी (Rain Water) जमा था. यहां खेलने के दौरान बच्चे इसी गड्ढे में डूब गए. उन्हें बचाया नहीं जा सका और उनकी मौत हो गई.

घटना के बाद दोनों बच्चों को सदर अस्पताल लाया गया. फिर यहां से उन्हें एक निजी अस्पताल में ले जाया गया. चिकित्सक ने दोनों बच्चों को मृत घोषित कर दिया. घटना के बाद से इलाके में मातम का माहौल है. परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है.

CPR के बाद भी एक बच्चे को नहीं बचाया जा सका



चिकित्सक ने कहा कि जिन दो बच्चों को उनके पास लाया गया वे लगभग मर चुके थे. उन्होंने कहा कि एक बच्चा मर चुका था और दूसरे बच्चे को बचाने की 2 से 4 प्रतिशत उम्मीद थी. करीब एक घंटे तक सीपीआर (CPR) के जरिए बच्चे को बचाने की कोशिश की गई मगर सफलता नहीं मिली.
निजी अस्पताल में लाए गए दोनों बच्चों को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया.


बताते चलें कि मोहल्ले वालों के विरोध के बाद मटवारी मैदान में काम बंद कराया गया था. साथ ही कंपनी द्वारा कार्यस्थल पर घेराबंदी भी की गई थी. बावजूद इसके डूबने की घटना घट गई.

ये भी पढ़ें - दुमका : उग्रवाद प्रभावित शिकारीपाड़ा में भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद

ये भी पढ़ें - बाबू लाल मरांडी का ऐलान, झारखंड की सभी 81 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी झाविमो
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज