कोरोना से जंग में हजारीबाग ने मारी बाजी, 3 में से दो मरीज ठीक होकर लौटे घर

कोरोना संक्रमित मरीजों के ठीक होने पर अधिकारियों ने तालियां बजाकर डॉक्टरों का हौसला बढ़ाया

Corona Patients Cured: दोनों शख्स जिले के बिष्णुगढ़ प्रखंड के अलग-अलग गांव के हैं. एक को 11 अप्रैल को और दूसरे को बाद में आरोग्यम हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था.

  • Share this:
    हजारीबाग. जिले में दो कोरोना पॉजिटिव मरीज (Corona Patients) स्वस्थ होकर अस्पताल से घर लौट गये हैं. इनमें से हजारीबाग मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (Hazaribagh Medical College Hospital) और निजी अस्पताल में भर्ती थे. दोनों को डॉक्टरों ने स्वस्थ घोषित करते हुए मंगलवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी. इस मौके पर जिला प्रशासन के अधिकारियों ने डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों के सम्मान में तालियां बजाकर उनका हौसला बढ़ाया.

    डॉ निखिल आनंद ने कहा कि दृढ़ संकल्प और आईसीएमआर के साथ-साथ आयुष मंत्रालय के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मरीजों को ठीक किया गया है. इलाज के दौरान संक्रमितों का मनोबल बढ़ाया गया. उन्हें हमेशा ठीक होने का भरोसा दिलाया गया.

    दोनों बिष्णुगढ़ के रहने वाले

    दोनों शख्स जिले के बिष्णुगढ़ प्रखंड के अलग-अलग गांव के हैं. हजारीबाग जिला में पहला कोरोना संक्रमित मरीज 2 अप्रैल को बिष्णुगढ़ में मिला था. संक्रमित शख्स आसनसोल से हजारीबाग पहुंचा था. वहीं दूसरा संक्रमित मरीज 11 अप्रैल को मिला था. वह भी बिष्णुगढ़ का ही रहने वाला है. अब दोनों स्वस्थ होकर घर लौट गये हैं. दोनों में से एक को 11 अप्रैल को और दूसरे को बाद में आरोग्यम हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. दोनों का इलाज डॉ अमित कुमार, डॉ सुजीत सिन्हा, डॉ बीएन प्रसाद और डॉ मनीष ने किया.

    जिले में अबतक कुल तीन मरीज मिले हैं

    हालांकि जिले के बडकागांव से एक नया संक्रमित मरीज 20 अप्रैल को मिला है. उसका इलाज हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल में जारी है. यह मरीज 23 मार्च को मुम्बई से हजारीबाग आया था. चार अप्रैल से उसे क्वारेंटाइन किया गया था. हजारीबाग जिले में अबतक कोरोना के कुल तीन मरीज सामने आए हैं.

    रिपोर्ट- राकेश कुमार

    ये भी पढ़ें- कोरोना संकट में क्‍यों जाएं बाहर, घर बैठे मंगाएं सामान, लॉन्च हुआ झारखंड बाजार ऐप