महिला प्रोफेसर की शर्मनाक करतूत, इंटर्नशिप के नाम पर छात्राओं से किया धोखा

हजारीबाग के विनोबा भावे विश्वविद्यालय की 15 छात्राओं को इंटर्नशिप के लिए सीएमसी वेल्लोर भेजा गया. लेकिन वहां इनके कागजात को फर्जी करार दे दिया गया. सभी छात्राएं वेल्लोर में फंसी हुई हैं.

News18 Jharkhand
Updated: February 11, 2019, 12:39 PM IST
महिला प्रोफेसर की शर्मनाक करतूत, इंटर्नशिप के नाम पर छात्राओं से किया धोखा
विनोबा भावे विश्वविद्यालय हजारीबाग
News18 Jharkhand
Updated: February 11, 2019, 12:39 PM IST
झारखंड के हजारीबाग में छात्राओं के साथ बड़े फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है. विनोबा भावे विश्वविद्यालय के सीएनडी डिपार्टमेंट की छात्राएं इंटर्नशिप करने सीएमसी वेल्लोर गई थीं. लेकिन वहां इनके कागजात को फर्जी करार दे दिया गया. 15 छात्राएं वेल्लोर में फंसी हुई हैं.

दरअसल विनोबा भावे विश्वविद्यालय के सीएनडी डिपार्टमेंट की 15 छात्राओं को फर्जी कागजात के साथ इंटर्नशिप करने के लिए सीएमसी वेल्लोर भेज दिया गया. वहां जाकर जब छात्राओं को इस फर्जीवाड़े का पता चला तो विश्वविद्यालय के सिंडिकेट मेंबर अमरदीप यादव से फोन संपर्क किया गया. मामले की छानबीन की गई, तो सच्चाई सामने आ गई.

बताया जा रहा है कि इस पूरे फर्जीवाड़े के पीछे रांची मारवाड़ी कॉलेज की असिस्टेंट प्रोफेसर रतना कविराज का हाथ है. दरअसल विश्वविद्यालय के एक कार्यक्रम के सिलसिले में प्रोफेसर रतना का पीड़ित छात्राओं से संपर्क हुआ था. आरोप के मुताबिक  प्रोफेसर रतना ने सीएमसी वेल्लोर में इंटर्नशिप कराने का ऑफर दिया था. बदले में कुछ खर्च करने की बात कही थी. छात्राओं ने सीएमसी वेल्लोर का नाम सुनकर 18 हजार रुपये की दर से पैसे दे दिये. इसके बाद 15 छात्राओं को इंटर्नशिप के फर्जी कागजात देकर सीएमसी वेल्लोर भेज दिया गया. जहां पूरे फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ. सीएमसी वेल्लोर ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रोफेसर रतना पर केस दर्ज कराया है. इधर विनोबा भावे विश्वविद्यालय प्रबंधन ने भी प्रोफेसर पर मामला दर्ज कराने का फैसला लिया है.



कुलपति रमेश शरण का कहना है कि ऐसी घटना फिर कभी नहीं हो इसके लिए मामले की जांच जरुरी है. इसके लिए यूनिवर्सिटी प्रशासन पुलिस में मामला दर्ज कराएगा. सिंडिकेट सदस्य अमरजीत यादव का कहना है कि इस फर्जीवाड़े से विश्वविद्यालय के साथ-साथ सीएमसी वेल्लोर की प्रतिष्ठा पर आंच पहुंची है. भविष्य में ऐसा दोबारा ना हो, इसके लिए इंटर्नशिप पर भेजने से पहले कॉलेज से पत्राचार किया जाएगा.

रिपोर्ट- राकेश कुमार

ये भी पढ़ें- धनबाद: रफ्तार के रोमांच में डिवाइडर से टकराई बाइक, तीन युवकों की मौके पर मौत 

पलामू पुलिस ने सड़कों पर लूटपाट करने वाला गिरोह दबोचा, 6 गिरफ्तार
Loading...

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर