यहां जान जोखिम में डालकर रेलवे का काम कर रहे हैं मजदूर
Hazaribagh News in Hindi

यहां जान जोखिम में डालकर रेलवे का काम कर रहे हैं मजदूर
जान जोखिम में डालकर काम करते मजदूर

मजदूरों का कहना है कि ठेकेदार से जब जैकेट, जूते और बेल्ट की मांग की जाती है तो वह दो-तीन दिन के अंदर देने का भरोसा दिलाता है.

  • Share this:
कहावत है कि सावधानी हटी, दुर्घटना घटी. लेकिन हजारीबाग में रेलवे का काम कर रहे मजदूर इस कहावत की अनदेखी कर रहे हैं. दरअसल हजारीबाग- कोडरमा रेललाइन पर इलेक्ट्रिफिकेशन का काम तेजी से चल रहा है. लेकिन इसमें लगे मजदूर सेफ्टी किट के बिना काम कर रहे हैं.

हजारीबाग रेलवे स्टेशन पर इनदिनों युद्धस्तर पर इलेक्ट्रिफिकेशन का काम चल रहा है. बरकाकाना-हजारीबाग-कोडरमा रेललाइन का विद्युतीकरण होना है. ताकि इस रूट पर लंबी दूरी की ट्रेन चल सके. विद्युतीकरण के लिए मुंबई के एक निजी कंपनी को ठेका दिया गया है. लेकिन कंपनी सारे नियमों को ताक पर रखकर मजदूरों से काम ले रही है. आलम यह है कि मजदूर बिना हेलमेट, जैकेट और जूते के 20 फीट ऊंचे पोल पर चढ़कर काम करते हैं.

मजदूरों का कहना है कि ठेकेदार से जब जैकेट, जूते और बेल्ट की मांग की जाती है तो वह दो-तीन दिन के अंदर देने का भरोसा दिलाता है. लेकिन महीने भर से ज्यादा हो गया है. आजतक सेफ्टी के सामान नहीं मिले हैं.



इस बाबत जब साइट इंचार्ज से बात करने की कोशिश हुई तो उनका कहना था कि बड़े अधिकारी ही इसका जवाब देंगे. लेकिन सवाल है कि एेसे में कोई हादसा हो जाए तो मजदूर की जान भी जा सकती है. क्योंकि नीचे में रेलवे ट्रैक और पत्थर बिछा हुआ है. ताजुब्ब ये है कि इस ओर रेलवे अधिकारी भी ध्यान नहीं दे रहे.
राकेश कुमार की रिपोर्ट 

ये भी पढ़ें- हाथी पर सवार होकर पुल का शिलान्यास करने पहुंचे मंत्री

VIDEO: बाल तस्करी को रोकने के लिए स्कूल में हुआ सेमिनार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज