बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर झारखण्ड की सभी सीमाओं पर बढ़ी चौकसी, जानें क्या है वजह

बिहार में  विधानसभा चुनाव को लेकर झारखंड की सीमाएं पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है.
बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर झारखंड की सीमाएं पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

बिहार (Bihar) में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) को लेकर दो राज्यों के बीच शराब (Alcohol) और अन्य चीजों की तस्करी (Smuggling) को रोकने के लिए झारखंड सरकार ने अपनी सभी सीमाओं पर पुलिस (Police) प्रशासन को सक्रिय कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2020, 6:11 PM IST
  • Share this:
गोड्डा. पड़ोसी राज्य बिहार (Bihar) में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) के मद्देनजर किसी भी तरह की अवैध तस्करी और अन्य गैरकानूनी गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाने के लिए झारखंड सरकार (Government of Jharkhand) ने कमर कस ली है. इसके लिए गोड्डा जिले से लगी सीमा को सील कर दिया है. गोड्डा जिले में कई प्रखंडों से बिहार की सीमाएं मिलती हैं. गोड्डा से बिहार के बांका जिले के पंजवारा को जोड़ने वाली NH- 333 में खटनयी सीमा पर पुलिस प्रशासन द्वारा पुलिस बल की तैनाती की गई है.

यहां पर बिहार से झारखंड और झारखंड से बिहार की तरफ आने-जाने  वाले  लोगों के वाहनों की पुलिस और अर्ध सैनिक बल खासकर वाहनों को जांच करेंगे. जिले की बिहार से लगती खटनयी बॉर्डर के प्रभारी SI शैलेन्द्र कुमार शर्मा ने कहा कि सीमा पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गये हैं. हर आने- जाने वाले की तलाशी ली जाएगी. इसके अलावा बिहार-झारखंड की सीमा में पड़ने वाले जीआरपी-आरपीएफ के अधिकारियों ने कोडरमा जंक्शन पर बैठक कर सीमा को सुरक्षित और घुसपैठ को रोकने के लिए योजना तैयार की.

रांची में महंगा मोबाइल उड़ाने वाला पहाड़ी गिरोह सक्रिय, चोरी कर बांग्लादेश में बेचते थे फोन!
बैठक में यात्री ट्रेनों की निगरानी व अपराधियों के खिलाफ संयुक्त रूप से कार्रवाई करने के लिए चर्चा की गई, ताकि अपराधी विधानसभा चुनाव में किसी प्रकार का अवरोध ना पहुंचा सकें. बता दें कि धनबाद रेल मंडल का अधिकांश क्षेत्र बिहार से जुड़ा है. वहीं, विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बिहार से सटे झारखंड बार्डर पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है. इसमें सबसे ज्यादा दो राज्यों के बीच अवैध तस्करी पर शिकंजा कसना जरूरी है.
इसके मद्देनजर कोडरमा आरपीएफ इंस्पेक्टर जवाहरलाल, एसआई कुमार नयन सिंह, कोडरमा रेल थानाध्यक्ष शिवशंकर प्रसाद, एएसआइ विनोद कुमार समेत गया से जीआरपी इंस्पेक्टर रंजीत कुमार एवं रेल थानाध्यक्ष संतोष कुमार बैठक ने बैठ की, इसमें सीमावर्ती इलाके में ट्रेनों के माध्यम से होने वाले शराब की तस्करी और अपराधियों की आवाजाही पर रोक लगाने पर चर्चा की गई. साथ ही विधानसभा चुनाव में प्रभाव डालने वाले सामग्री में नगदी, हथियार समेत अन्य पर रोक लगाने पर चर्चा की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज