• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • लंदन एयरपोर्ट बम धमाके में जेल गये सबील से था कटकी का संपर्क, पूछताछ में कलीमुद्दीन ने किया खुलासा

लंदन एयरपोर्ट बम धमाके में जेल गये सबील से था कटकी का संपर्क, पूछताछ में कलीमुद्दीन ने किया खुलासा

आतंकी कलीमुद्दीन ने ये भी स्वीकार किया है कि कटकी ने सबील की बहन से आर्सियान की शादी करवाई थी. आर्सियान का भाई जीशान फिलहाल तिहाड़ जेल में बंद है

आतंकी कलीमुद्दीन ने ये भी स्वीकार किया है कि कटकी ने सबील की बहन से आर्सियान की शादी करवाई थी. आर्सियान का भाई जीशान फिलहाल तिहाड़ जेल में बंद है

लंदन एयरपोर्ट (London Airport) पर हुए बम विस्फोट (Bomb Blast) की घटना में सबील (Sabil) को जेल भेज गया था. इस घटना में सबील का भाई डॉ. काफिल (Doctor Kafil) मारा गया था. हालांकि बाद में वह जेल से छूट गया. कलीमुद्दीन (Kalimuddin) ने पूछताछ में बताया कि सबील (Sabil) की 2007-08 में कटकी (Katki) से मुलाकात हुई थी.

  • Share this:
जमशेदपुर. अलकायदा (Al Qaeda) के संदिग्ध आतंकी (Terrorist) कलीमुद्दीन (Kalimuddin) ने पूछताछ में एटीएस (ATS) एवं अन्य जांच एजेंसियों के सामने कई अहम खुलासे किए हैं. फिलहाल रिमांड (Remand) की अवधि खत्म होने के बाद वह घाघीडीह जेल (Ghaghidih Jail) में बंद है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पूछताछ में कलीमुद्दीन ने कई युवकों के नाम बताए हैं, जिन्हें तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में बंद कटकी (Katki) की मदद से अलकायदा से जोड़ा गया था. इनमें आर्सियान और जीशान नाम के दो भाई भी शामिल हैं. दोनों मूल रूप से जमशेदपुर के मानगो के रहने वाले हैं. जीशान (Jishan) आतंकी गतिविधि में संलिप्त होने के आरोप में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के हाथों गिरफ्तार होकर तिहाड़ जेल में बंद है. वहीं आर्सियान का कोई अता-पता नहीं है. कलीमुद्दीन ने ये भी स्वीकार किया है कि कटकी ने सबील (Sabil) की बहन से आर्सियान की शादी करवाई थी.

कौन है सबील ?

कुछ साल पहले लंदन एयरपोर्ट पर हुए बम विस्फोट की घटना में सबील को जेल भेज गया था. इस घटना में सबील का भाई डॉ. काफिल मारा गया था. हालांकि बाद में वह जेल से छूट गया. कलीमुद्दीन ने पूछताछ में बताया कि सबील की 2007-08 में कटकी से मुलाकात हुई थी. सबील के बेंगलुरू में रहने की सूचना मिलती रहती है.

तिहाड़ जेल में बंद है कटकी

अब्दुल रहमान कटकी को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने ओडिशा से दिसंबर 2016 में गिरफ्तार किया था. उसकी निशानदेही पर पुलिस ने जमशेदपुर के मोहम्मद सामी को दिल्ली के पास से गिरफ्तार किया था. मोहम्मद सामी मूल रूप से जमशेदपुर के धतकीडीह का रहने वाला है. वह कटकी के संपर्क में आकर ही अलकायदा से जुड़ा था. कलीमुद्दीन ने पूछताछ में ये भी बताया है कि सामी को नेपाल से अरब के रास्ते आतंकी प्रशिक्षण के लिए पाकिस्तान भेजा गया था.

कटकी को जमशेदपुर में पनाह देता था कलीमुद्दीन

कलीमुद्दीन ने पूछताछ में बताया है कि कटकी जब भी जमशेदपुर आता था, तो वह उसके ठहरने का इंतजाम मानगो में करता था. हालांकि कभी-कभी कटकी साकची मस्जिद में भी ठहरता था. इस दौरान वह युवाओं को आतंक की दिशा में भटकाने की कोशिश करता था. कलीमुद्दीन से पूछताछ में जांच एजेंसियों को ये भी जानकारी मिली है कि कई लोग कटकी को आर्थिक मदद पहुंचाते थे, जिससे वह ओडिशा में आतंकी शिविर चलाता था. कलीमुद्दीन ने कई सफेदपोशों के नामों का भी खुलासा किया है. 21 सितंबर को टाटा नगर स्टेशन से एटीएस ने कलीमुद्दीन को गिरफ्तार किया था.

ये भी पढ़ें- खूंटी: विधानसभा चुनाव से पहले गोलबंद होने लगे हैं पत्थलगड़ी समर्थक

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज