आग से झुलसे बच्चे को नहीं मिला बेड, तपती जमीन पर सुलाकर किया इलाज
Jamshedpur News in Hindi

आग से झुलसे बच्चे को नहीं मिला बेड, तपती जमीन पर सुलाकर किया इलाज
बेड नहीं मिलने पर परिजनों को आग से झुलते बच्चे को तपती जमीन पर लिटाना पड़ा

MGM Hospital Jamshedpur: अस्पताल उपाधीक्षक ने सफाई देते हुए कहा कि बर्न वार्ड में मात्र 20 बेड हैं. और पहले से 24 मरीजों का वार्ड में इलाज चल रहा है. फिर भी इस बच्चे को जमीन पर लिटाकर ही इलाज किया गया.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
जमशेदपुर. शहर का पारा 41 डिग्री के पार पहुंच गया है. ऐसे में आग से झुलसे एक बच्चे को अस्पताल में बेड न मिले, और उसे सड़क पर लेटना पड़े, तो क्या कहेंगे. कोल्हान के सबसे बड़े अस्पताल एमजीएम (MGM Hospital) में ये वाकया पेश आया. मंगलवार को तपती जमीन पर आग से झुलसे बच्चे को लिटाकर मां पंखा झेलती नजर आई. इस दौरान उस होकर डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी गुजरते रहे, लेकिन किसी ने कोई मदद नहीं की. अस्पताल का ये हाल तब है, जब सूबे के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता (Banna Gupta) इसी शहर के हैं.

चूल्हे की आग से झुलस गया बच्चा 

वैसे जमशेदपुर का एमजीएम अस्पताल अपने कारनामों के लिए सुर्खियां बटोरता रहा है. ताजा मामला एक बार फिर इस अस्पताल की लापरवाही को उजागर किया है. जानकारी के मुताबिक सुंदरनगर का रहने वाला पांच साल का बच्चा घर में खाना बनने के दौरान चूल्हे की आग के चपेट में आकर बुरी तरह झुलस गया. आनन-फानन में परिजनों ने उसे एमजीएम अस्पताल लाया. अस्पताल में बच्चे को भर्ती कर बर्न वार्ड भेजा गया. लेकिन बर्न वार्ड में बेड खाली नहीं होने के कारण बच्चे को बाहर रखने को कह दिया गया.



बच्चे की मां ने बताया कि बर्न वार्ड में बेड खाली नहीं होने की बात कहकर उन्हें बच्चे को बाहर रखने को कहा गया. इसलिए उन्होंने बच्चे को सड़क पर लिटा दिया. और गर्मी से राहत देने के लिए पंखे से हवा देने लगीं.



अस्पताल उपाधीक्षक की सफाई

इस मामले पर अस्पताल उपाधीक्षक ने सफाई देते हुए कहा कि बर्न वार्ड में मात्र 20 बेड हैं. और पहले से 24 मरीजों का वार्ड में इलाज चल रहा है. फिर भी इस बच्चे को जमीन पर लिटाकर ही इलाज किया गया. एडमिट होने के बाद बच्चे को दूसरे वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है. अस्पताल में तमाम कमियों के बावजूद मरीजों को इलाज दिया जाता है.

इनपुट- आशीष तिवारी

ये भी पढ़ें- शर्मनाक! जानवर और इंसान एक साथ पीते हैं नाले का पानी, 70 साल से जारी है ये सिलसिला

 
First published: May 27, 2020, 1:16 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading