मोदी सरकार की नीति के चलते मजदूर के सामने भूखमरी की स्थिति- चंपई

चंपई सोरेन ने कहा कि मोदी सरकार की मजदूर विरोधी नीति के चलते कामगारों के समक्ष भूखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है.

News18 Jharkhand
Updated: April 30, 2019, 1:10 PM IST
मोदी सरकार की नीति के चलते मजदूर के सामने भूखमरी की स्थिति- चंपई
मजदूर नेताओं के बीच जेएमएम प्रत्याशी चंपई सोरेन
News18 Jharkhand
Updated: April 30, 2019, 1:10 PM IST
जमशेदपुर सीट पर अपनी जीत पक्की करने के लिए महागठबंधन के प्रत्याशी चंपई सोरेन पूरा जोर लगा रहे हैं. इसी सिलसिले में वह मजदूरों के बीच पहुंचे और अपने लिए वोट की अपील की. दरअसल चंपई सोरेन ने मजदूर आंदोलन से ही अपने सियासी सफर की शुरुआत की थी.

जमशेदपुर के बिष्टुपुर स्थित जुस्को यूनियन कार्यालय में बैठक का आयोजन हुआ. इसमें इंटक सचिव रघुनाथ पांडे के अलावा ट्रेड यूनियनों के अन्य नेता और मजदूर मौजूद रहे. इस दौरान जेएमएम प्रत्याशी ने अपने लिए वोट की अपील की.

चंपई सोरेन ने कहा कि उन्होंने मजदूर आंदोलन से ही राजनीति की शुरुआत की थी. मजदूरों के हक के लिए लंबी लड़ाई लड़ी, इससे एक अलग पहचान मिली. जनप्रतिनिधि के रूप में मजदूरों की कई समस्याओं का भी समाधान किया.

चंपई ने कहा कि मोदी सरकार की मजदूर विरोधी नीति के चलते कामगारों के समक्ष भूखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है. अगर जीते, तो हम इनकी आवाज को लोकतंत्र के सबसे बड़े मंदिर तक पहुंचाने का प्रयास करेंगे.

रिपोर्ट- आशीष तिवारी

ये भी पढ़ें- झारखंड की 3 सीटों पर 63.41 फीसदी मतदान, 2014 की तुलना में 6 प्रतिशत का इजाफा

तीनों सीट पर बीजेपी के सांसद अब हो जाएंगे भूतपूर्व- जेएमएम
'जनता ने महागठबंधन को नकारा, बीजेपी को स्वीकारा'

जेइइ मेन में जमशेदपुर के अनिकेत गुडीपति बने झारखंड टॉपर

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...