जमशेदपुर: अचानक बढ़े संक्रमण से प्रशासन सकते में, पॉज़िटिविटी दर 7 गुना बढ़ी!

न्यूज़18 कार्टून

न्यूज़18 कार्टून

Jharkhand News : नये मरीज़ों के मिलने का सिलसिला ज़िले में काबू में दिख रहा था, लेकिन अचानक इसमें तेज़ी आने से लोगों के साथ ही सिस्टम की परेशानी भी बढ़ गई. क़यास है कि ज़िले में लॉकडाउन को लेकर सख्ती हो सकती है.

  • Share this:

जमशेदपुर. ज़िले में अचानक कोरोना संक्रमण में एक बार फिर तेज़ी दिखने से चिता का माहौल पैदा हो गया है. करीब 10 दिनों से एक फीसदी से भी कम पॉज़िटिविटी रेट से नए मरीज़ मिलने से राहत महसूस की जा रही थी, लेकिन मंगलवार के आंकड़ों ने जनता से लेकर प्रशासन, सबके माथे पर शिकन ला दी. मंगलवार को 4402 सैंपल की जांच में 348 संक्रमित पाए गए यानी पॉज़िटिविटी रेट 7.90 फीसदी रही. इसके पहले 18 मई 2021 को 10.06 की दर से पॉज़िटिव मिले थे. उसके बाद पॉज़िटिविटी रेट 7 फीसदी से अधिक नहीं हुई थी. 2 जून से 7 जून तक पॉज़िटिविटी रेट 2 फीसदी से भी नीचे रही.

मंगलवार को मिले 348 कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ों में शहरी क्षेत्र के 146 (41 फीसदी) मरीज़ शामिल हैं जबकि शेष 59 फीसदी ग्रामीण इलाकों से हैं. इसके साथ ही, ज़िले में कुल संक्रमितों की संख्या 50,958 पहुंच गई है. इस तरह, शहर के बाद अब ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण में तेज़ी आई है. इधर, मंगलवार को 5 मरीज़ों की मौत होने के सरकारी आंकड़े भी हैं. ज़िले में मृतकों की संख्या बढ़कर 1042 हो चुकी है.

ये भी पढ़ें : झारखंड : बीच सड़क पर नशे में धुत पड़ा रहा जवान, धनबाद पुलिस की हुई किरकिरी

jharkhand hindi news, corona in jharkhand, jharkhand lockdown, Jamshedpur news, झारखंड न्यूज़, जमशेदपुर न्यूज़, झारखंड में कोरोना, झारखंड लॉकडाउन
लॉकडाउन में ढील देने की चर्चाओं के बीच जमशेदपुर ज़िले में अचानक बढ़ा कोविड-19 का प्रकोप.

इससे पहले, 26 मई को ज़िले में कोरोना से 24 घंटे में पांच मरीज़ों की मौत हुई थी. तबसे लगातार आंकड़े यही थी कि एक दिन में मौतों की संख्या 1-3 के बीच रही थी, लेकिन 13वें दिन फिर 24 घंटे में 5 संक्रमितों की मौत से स्वास्थ्य विभाग के साथ ज़िला प्रशासन सकते में आ गया है. अब फिर प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग मुस्तैदी दिखाने के मूड में आ गया है.

प्रशासनिक अधिकारियों के मुताबिक शहर में कोरोना संक्रमण की दर में कमी आने के बावजूद लाेगाें की काेराेना जांच पहले की तरह जारी रहेगी. इसके लिए प्रशासन ने छह स्थायी जांच केंद्र बनाए हैं. वहीं, 14 टीमाें का गठन कर तीनाें नगर निकायाें के विभिन्न इलाकाें में इन्हें तैनात किया गया है. ये टीमें अलग-अलग स्थानों पर जाकर सैंपल लेंगी. हर टीम को राेज़ 50-50 आरटीपीसीआर व आरएंटी टेस्ट के लिए सैंपल लेना है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज