Jamshedpur News: ड्रग कंट्रोल विभाग की छापेमारी में दवा दुकानों से लाखों की नशीली दवाएं बरामद, 3 गिरफ्तार

जमशेदपुर में ड्रग कंट्रोल विभाग की टीम ने कई दुकानों में छापेमारी की.

जमशेदपुर में ड्रग कंट्रोल विभाग की टीम ने कई दुकानों में छापेमारी की.

Jamshedpur News: ड्रग इंस्पेक्टर जया कुमारी ने बताया कि जिन दवाइयों को जब्त किया गया है, वे बेहद ही खतरनाक और बगैर चिकित्सकीय सलाह के प्रयोग में वर्जित हैं.

  • Share this:
जमशेदपुर. झारखंड के जमशेदपुर में ड्रग कंट्रोल विभाग (Drug control department) की टीम ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में नशीला दवा के खिलाफ छापेमारी की. साकची और उलीडीह थानाक्षेत्र में दवा दुकानों तलाशी ली गई. इस दौरान लाखों रुपये के नशीला पदार्थ के साथ-साथ नशीली दवाएं बरामद की गईं. 3 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.

दरअसल गत शनिवार को साकची बस स्टैंड के समीप से हिरासत में लिए गए युवक अफजल के पास से नाइट्रोजन- 10 बरामद किया गया था. उससे पूछताछ में शहर के अलग-अलग इलाकों के दवा दुकानों में नशीली दवाओं की बिक्री होने की जानकारी विभाग को मिली. इसके बाद सिटी एसपी के निर्देश पर ड्रग कंट्रोल विभाग ने रविवार को साकची के प्रांजल फार्मा से एक हजार कोडीन सिरप जब्त किया.

सोमवार को विभाग ने उलीडीह थाना अंतर्गत दशमेश मेडिकल एवं उसके मालिक के घर में छापेमारी की. जहां से दस हजार स्ट्रिप नाइट्रोजन- 10 दवा जब्त की गई. विभाग द्वारा कागजात मांगे जाने पर मालिक नहीं दिखा पाये. जिसके बाद पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत दशमेश मेडिकल के मालिक को हिरासत में लेकर उलीडीह थाना ले आई. जहां उनसे पूछताछ की जा रही है.

इस संबंध में उलीडीह थानाप्रभारी ने बताया कि ड्रग कंट्रोल विभाग द्वारा सूचना दिए जाने पर उलीडीह थाना पुलिस की ओर से संयुक्त कार्रवाई करते हुए यह गिरफ्तारी की गई है. उन्होंने बताया कि आगे भी यह अभियान जारी रहेगा.
जब्त दवाओं का वजन लगभग 3 किलो बताया गया. ड्रग इंस्पेक्टर जया कुमारी ने बताया कि जिन दवाइयों को जब्त किया गया है वह बेहद ही खतरनाक और बगैर चिकित्सकीय सलाह के प्रयोग में लाना वर्जित है. इससे काफी तेजी से नशा होता है. और इसके सेवन करने वाले लोग आपराधिक घटनाओं को अंजाम देते हैं.

ड्रग्स कंट्रोल विभाग की इस कार्रवाई के बाद शहर के दवा कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज