झोलाछाप डॉक्टर ने लगाया गलत इंजेक्शन, मासूम की गई जान

झारखंड के जमशेदपुर में 2 महीने के मासूम की एक झोलाछाप डॉक्टर ने जिंदगी छीन ली . दरअसल परसुडीह थाना क्षेत्र के कीताडीह के मेडिकल स्टोर में काम करने वाले एक झोलाछाप डॉक्टर ने एक बच्चे को गलत इंजेक्शन दे दिया.जिसके कारण 2 माह के मासूम की मौत हो गई.

Ranjit Kumar Ojha | News18 Jharkhand
Updated: November 10, 2018, 10:34 AM IST
झोलाछाप डॉक्टर ने लगाया गलत इंजेक्शन, मासूम की गई जान
झोलाछाप डॉक्टर का क्लीनिक
Ranjit Kumar Ojha | News18 Jharkhand
Updated: November 10, 2018, 10:34 AM IST
झारखंड के जमशेदपुर में 2 महीने के मासूम की एक झोलाछाप डॉक्टर ने जिंदगी छीन ली . दरअसल परसुडीह थाना क्षेत्र के कीताडीह के मेडिकल स्टोर में काम करने वाले एक झोलाछाप डॉक्टर ने एक मासूम को गलत इंजेक्शन दे दिया.जिसके कारण उसकी मौत हो गई.

बताया जा रहा है कि बर्मामाइंस कैरेज कॉलोनी में रहने वाले सन्नी शर्मा के दो माह के बच्चे की तबीयत अचानक खराब हो गई थी. जिसके बाद वह अपनी पत्नी के साथ बच्चे के इलाज के लिए सरोजनी क्लिनिक पहुंचे. जहां झोलाछाप डॉक्टर ने इलाज के दौरान बच्चे को इंजेक्शन लगा दिया और अपने क्लीनिक से दो दवाईयां भी दी. लेकिन घर पहुंचते ही बच्चे के हाथ- पैर ठंडे पड़ने लगे. बच्चे में कोई हरकत नहीं होते देख दंपति घबरा गए और बच्चे को एमजीएम अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन वहां डॉक्टरों ने बच्चे की जांच कर बताया कि बच्चे की मौत हो चुकी है. डॉक्टर ने बच्चे को दिए गए इंजेक्शन के बारे में जब परिजनों से जानना चाहा तो परिजनों ने बताया की उन्हें कोई पर्ची नहीं दी गई थी. जिसे सुन डॉक्टर भी हैरान हो गए, लेकिन अब कुछ नहीं हो सकता था. डॉक्टर बनने के जूनून में झोलाछाप डॉक्टर एक मासूम की ज़िंदगी से खेल चुका था.

मामले में परसुडीह थाना प्रभारी अनिमेष गुप्ता ने बताया की झोलाछाप डॉक्टर  के खिलाफ मामला दर्ज हो चुका है. झोलाछाप डॉक्टर अपने क्लीनिक पर ताला लगाकर रफूचक्कर हो चुका है. फिलहाल पुलिस झोलाछाप डॉक्टर की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है.

 

यह भी पढ़ें-  अभियान चलाकर झोलाछाप डॉक्टरों पर होगी कार्रवाई

यह भी पढ़ें- झोलाछाप डॉक्टर के इंजेक्शन से बच्ची की मौत, बेहोश बताकर कर दिया रेफर
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर