लाइव टीवी

शव को कंधे पर लेकर परिजन घुमते रहे, लेकिन अस्पताल से नहीं मिला एंबुलेंस

News18 Jharkhand
Updated: March 15, 2019, 6:14 PM IST
शव को कंधे पर लेकर परिजन घुमते रहे, लेकिन अस्पताल से नहीं मिला एंबुलेंस
शव को कंधे पर ले जाते परिजन

एमजीएम अस्‍पताल में एक बार फिर मानवता शर्मसार हुई. हॉस्पिटल में इलाज के दौरान एक महिला की मौत हो गई, लेकिन शव को ले जाने के लिए परिजनों को अस्पताल की ओर से ना तो स्ट्रेचर दिया गया और न ही एंबुलेंस.

  • Share this:
कोल्हान के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल एमजीएम में एक बार फिर मानवता शर्मसार हुई. इस अस्पताल में इलाज के दौरान एक महिला की मौत हो गई, लेकिन शव को ले जाने के लिए परिजनों को अस्पताल की ओर से ना तो स्ट्रेचर दिया गया और न ही एंबुलेंस. परिजन शव को कंधे पर लेकर घूमते रहे.

परिजनों का आरोप है कि शव को कंधे पर लेकर वे लोग अस्पताल में घुमते रहे और स्ट्रेचर- एंबुलेंस के लिए गुहार लगाते रहे, पर किसी ने नहीं सुनी. वैसे यह पहला मौका नहीं है कि एमजीएम में नियमों की धज्जियां उड़ाई गई हैं. अक्सर इस अस्पताल की व्यवस्था की पोल- पट्टी खुलती रहती है.

जानकारी के मुताबिक जमशेदपुर के उलीडीह के शंकोसाई की रहने वाली शांति सुंडी को तबीयत खराब होने के एमजीएम में भर्ती कराया गया था. यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. आईसीयू में महिला का इलाज चल रहा था. गौरतलब है कि अस्पताल से आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को हटा दिया गया है. इस वजह से कर्मचारियों की किल्लत हो गई है. इसका खामियाजा परिजनों और मरीजों को भुगतना पड़ता है.

रिपोर्ट- रंजीत कुमार

ये भी पढ़ें- धनबाद में नीरज सिंह हत्याकांड के चश्मदीद गवाह पर जानलेवा हमला

धनबाद-भावनगर सुपरफास्ट में सांप दिखने से यात्रियों में मची अफरातफरी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जमशेदपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 15, 2019, 4:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...