लाइव टीवी

खाद्य आपूर्ति मंत्री ने की सुविधा केंद्रों की शुरुआत, यहां प्याज की कीमत 45 रुपये

Ashish Tiwari | News18 Jharkhand
Updated: September 28, 2019, 7:26 PM IST
खाद्य आपूर्ति मंत्री ने की सुविधा केंद्रों की शुरुआत, यहां प्याज की कीमत 45 रुपये
खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने नाफेड से प्याज मांगने की दिशा में पहल की.

खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने प्याज की बढ़ती कीमतों को क्षणिक बताया और जल्द ही इस पर नियंत्रण पाने की उम्मीद जताई.

  • Share this:
जमशेदपुर. झारखंड सरकार (Jharkhand Government) की ओर से प्याज (Onion) की बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाए जाने का प्रयास लगातार जारी है. राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री (Food Supply Minister) सरयू राय (Saryu Rai) ने नाफेड ((NAFED) से प्याज मांगने की दिशा में पहल की है. मंत्री ने शनिवार को जमशेदपुर में 10 स्थानों पर सुविधा केंद्र (Suvidha Kendra) की शुरुआत की. उन्होंने साफ तौर पर निर्देश दिया है कि खुदरा व्यापारी बाजार में प्याज की आवक बढ़ने तक कम से कम मुनाफा कमाएं ताकि आम लोगों को प्याज औसत कीमतों पर मिल सके. सुविधा केंद्रों में प्याज की कीमत 45 रुपए निर्धारित की गई है.

मंत्री ने कहा कि रांची में करीब 10 सुविधा केंद्र चल रहे हैं. जिला पूर्ति पदाधिकारियों से भी हर प्रखंड में कम-से-कम एक प्याज का केंद्र खोले जाने को कहा गया है. उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य है कि प्याज के थोक भाव और खुदरा भाव में अंतर कम हो.

मंत्री सरयू ने कहा कि खुदरा व्यापारी बाजार में प्याज की आवक बढ़ने तक कम से कम मुनाफा कमाएं.


साथ ही राज्य के सभी राशन दुकानों (Ration Shop) से प्याज बेचे जाने का फरमान जारी किया गया है. मंत्री ने प्याज की बढ़ती कीमतों को क्षणिक बताया और जल्द ही इस पर नियंत्रण पाने की उम्मीद जताई है. उन्होंने राज्य सरकार की ओर से अन्य राज्यों की तरह झारखंड राज्य में भी सब्सिडी व्यापारियों तक पहुंचाने की बात कही.

ये भी पढ़ें - यौन शोषण मामले में झाविमो नेता प्रदीप यादव को झारखंड हाईकोर्ट से मिली जमानत

ये भी पढ़ें - झारखंड में मिशन 65 का लक्ष्य हासिल करने के लिए होमवर्क पूरा करने में जुटी BJP

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जमशेदपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 28, 2019, 7:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर