होम /न्यूज /झारखंड /झारखंडः जमशेदपुर में पूजा पंडाल में गैंगस्टर की हत्या, 14 दिन पहले ही जेल से छूटा था रंजीत

झारखंडः जमशेदपुर में पूजा पंडाल में गैंगस्टर की हत्या, 14 दिन पहले ही जेल से छूटा था रंजीत

रंजीत सिंह 20 सितंबर को ही जेल से छूटकर बाहर आया था.

रंजीत सिंह 20 सितंबर को ही जेल से छूटकर बाहर आया था.

रंजित सिंह 20 सितंबर को ही जेल से छूटकर बाहर आया था. रंजित गोलमुरी का रहने वाला है. पंडाल के अंदर वह सबुज संघ में वह कु ...अधिक पढ़ें

जमशेदपुर. झारखंड के जमशेदपुर में टेल्को थाना क्षेत्र के सबूज कल्याण संघ के पूजा पंडाल में एक गैंगस्टर की दिन दहाड़े हत्या कर दी गई.अज्ञात अपराधियों ने रंजीत सिंह पर कई गोलियां बरसाई, जिसमें रंजीत सिंह को तीन गोली लगी. आनन-फानन में रंजीत को टीएमएच लाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया

जानकारी के अनुसार, रंजीत सिंह 20 सितंबर को ही जेल से छूटकर बाहर आया था. रंजीत गोलमुरी का रहने वाला है. पंडाल के अंदर वह सबुज संघ में वह कुछ युवकों से बात कर रहा था. इसी बीच उस पर अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है. सूत्रों की मानें तो वर्चस्व की लड़ाई में हत्या हुई है. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.

एसपी (शहर) के विजय शंकर ने बताया कि रंजीत सिंह करीब 15 दिन पहले ही जेल से बाहर आया था। रंजीत सिंह टेल्को इलाके में पंडाल में था और उसकी 12 साल की बेटी पास में एक कार के अंदर बैठी थी, तभी दो मोटरसाइकिलों पर कुछ नकाबपोश लोग उसके पास आए, उसके पिता के बारे में पूछताछ और उसे बाहर निकालने की कोशिश की. जैसे ही उसने शोर मचाया, रंजीत सिंह कार के पास पहुंचा तो उन लोगों ने उस पर फायरिंग कर दी. घायल हालत में उसे टाटा मेन अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. उसके शरीर पर गोली लगने के तीन निशान मिले हैं. हमले में उसकी बेटी बाल-बाल बच गई.

बताया जा रहा है कि लोगों ने शूटरों को गोली चलाते देखा, लेकिन डर की वजह से कोई पुलिस के सामने नहीं आ रहा है. पूजा स्थल और उसके आसपास के इलाके में कमेटी की ओर से 16 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे. इसके अलावा स्थानीय थाना की ओर से पूजा स्थल पर आधा दर्जन पुलिसकर्मियों की तैनाती भीड़ और विधि-व्यवस्था नियंत्रण के लिए की गई है। इसके बाद भी गोली चलना और हत्या होना सुरक्षा में बड़ी चूक है. रंजीत की जहां हत्या हुई, वह इलाका कैमरे के रेंज से बाहर था, इस कारण शूटर कैमरे में कैद नहीं हो पाए. शूटरों को पता था कि घटनास्थल कैमरे के दायरे में नहीं है.

Tags: Bihar Jharkhand News, Brutal Murder, Jharkhand Police

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें