देश को गोल्ड दिलाने वाली खिलाड़ी का ये हाल! आर्थिक तंगी ऐसी कि....

जमशेदपुर के सोनारी की रहने वाली दिव्यांग गंगाबाई ने वर्ष 2011 में एथेंस में देश को एक गोल्ड एवं दो सिल्वर मेडल दिलाया था. मगर आज गंगाबाई आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रही है.

News18 Jharkhand
Updated: February 11, 2019, 2:40 PM IST
देश को गोल्ड दिलाने वाली खिलाड़ी का ये हाल! आर्थिक तंगी ऐसी कि....
दिव्यांग खिलाड़ी गंगाबाई
News18 Jharkhand
Updated: February 11, 2019, 2:40 PM IST
स्पेशल ओलंपिक में देश को गोल्ड मेडल दिलाने वाली गंगाबाई आज कागज के ठोंगे बनाकर पेट पालने को मजबूर है. जमशेदपुर के सोनारी की रहने वाली दिव्यांग गंगाबाई ने वर्ष 2011 में एथेंस में देश को एक गोल्ड एवं दो सिल्वर मेडल दिलाया था. मगर आज गंगाबाई आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रही है.

गंगाबाई खुद और अपने बूढ़े मां- बाप की पेट कागज के ठोंगे बनाकर चलाती है. हालांकि उसे निजी संगठनों से सहयोग प्राप्त हो रहा है. लेकिन सरकार की ओर से कभी कोई मेहरबानी नहीं हुई. गंगाबाई के पिता सोहन लाल साहू एवं माता दुगुनी देवी का कहना है कि देश को गोल्ड मेडल दिलाने के बावजूद बेटी को यह सब करना पड़ रहा है. सरकार को उसे अनुदान राशि एवं सरकारी नौकरी देनी चाहिए.

गंगाबाई की खराब आर्थिक स्थिति को देखते हुए एक सामाजिक संस्था ने उसे ठोंगा बनाने का प्रशिक्षण देकर रोजगार से जोड़ा है. संस्थान के अध्यक्ष अवतार सिंह का कहना है कि सरकार को ऐसे खिलाड़ियों की मदद करनी चाहिए.



देश में एक तरफ क्रिकेटर करोड़ों रुपया कमा रहे हैं, तो गंगाबाई जैसे खिलाड़ी कागज के ठोंगे बनाने को मजबूर हैं. सरकार को चाहिए कि ऐसे खिलाड़ियों को गरीबी के बाहर निकालकर बेहतर प्रदर्शन करने का मौके प्रदान करे.

रिपोर्ट- आशीष तिवारी

ये भी पढ़ें-

महिला प्रोफेसर की शर्मनाक करतूत, इंटर्नशिप के नाम पर छात्राओं से किया धोखा
Loading...

संघर्ष यात्रा पर हेमंत, बोले- बीजेपी का जाना तय, परिवर्तन चाहती है जनता

शिक्षिका को ब्‍लैकमेल कर वसूले एक लाख रुपए, रिपोर्ट की तो कर दिया एसिड अटैक

झारखंड में 8वीं बोर्ड की परीक्षा, 6 लाख बच्चे ले रहे हिस्सा

प्रयागराज से काशी के बीच इस तरह चलेंगे फाइव स्टार क्रूज, गडकरी ने बताया पूरा प्लान!

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास,सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...