दुष्कर्म : पीड़िता के पास नाबालिग होने का प्रमाण नहीं

मेडिकल जांच में पीड़िता के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है. मगर उसकी उम्र 19 बताई गई है जो परिजनों को पच नहीं रहा है.

Anni Amrita | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 15, 2018, 1:23 PM IST
दुष्कर्म : पीड़िता के पास नाबालिग होने का प्रमाण नहीं
जिला प्रशासन ने साफ किया कि पॉस्को एक्ट के तहत नाबालिग मानकर ही अनुसंधान चलेगा
Anni Amrita | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 15, 2018, 1:23 PM IST
जमशेदपुर के मानगो थाना क्षेत्र के एक आवासीय कॉलोनी में नाबालिग के साथ दुष्कर्म और फिर उसे जबरन देह व्यापार में ढकेलने और थाना में दुष्कर्म के मामले में पीड़िता के मेडिकल जांच को चुनौती देने की तैयारी में उसके परिजन और संरक्षक लग गए हैं. पीड़िता की मां के अनुसार पीड़िता के भाई की उम्र 19 वर्ष है और पीड़िता उससे दो वर्ष छोटी है. हालांकि पीड़िता के पास फिलहाल कोई प्रमाणपत्र नहीं है और जिला प्रशासन ने साफ कर दिया है कि घटना पुरानी होने की वजह से पॉस्को एक्ट के तहत नाबालिग मानकर ही अनुसंधान चलेगा. फिर भी परिजन और संरक्षक पीड़िता की उम्र से संबंधित दस्तावेजों के लिए कोशिश में जुट गए हैं.

मालूम हो कि कि मेडिकल जांच में पीड़िता के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है. मगर उसकी उम्र 19 बताई गई है जो परिजनों को पच नहीं रहा है .वहीं बीती देर रात तक चली पूछताछ में आरोपियों बिजली मिस्त्री शिव कुमार महतो, श्रीकांत महतो और इंद्रपाल सैनी से पुलिस को अहम जानाकारियां मिली हैं.

पुलिस ने आरोपियों के पिछले डेढ़ साल के कॉल डिटेल निकाल लिए हैं. आज गुरुवार को रिमांड की अवधि समाप्त होने के बाद संभवतया शुक्रवार को पुलिस नार्को टेस्ट के लिए कोर्ट में आवेदन दे सकती है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर