लाइव टीवी

मरीज बनकर आए अपराधियों ने कर दी थी डॉ. प्रभात की हत्या, दोषियों को मिली आजीवन कारावास की सजा

News18 Jharkhand
Updated: October 3, 2018, 4:43 PM IST
मरीज बनकर आए अपराधियों ने कर दी थी डॉ. प्रभात की हत्या, दोषियों को मिली आजीवन कारावास की सजा
डॉ प्रभात हत्याकांड में आज सजा का एेलान

17 दिसंबर 2009 को मरीज के वेश में आए अपराधियों ने डॉ. प्रभात की घर पर ही हत्या कर दी थी.

  • Share this:
डॉक्टर प्रभात कुमार हत्याकांड में जमशेदपुर कोर्ट ने दोषी पंकज दुबे और कबीर को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. साथ ही दोनों पर 50-50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है. इसके अलावा आर्म्स एक्ट के तहत भी दोनों को 10-10 साल जेल और 10-10 हजार रुपया जुर्माना सुनाया गया है. एडीजे-13 प्रभाकर सिंह की अदालत ने एक अक्टूबर को दोनों को दोषी करार दिया था.

बता दें कि 17 दिसंबर 2009 को मरीज के वेश में आए अपराधियों ने डॉ. प्रभात की घर पर ही हत्या कर दी थी. बिष्टुपुर के नॉर्दन टाउन में हुए इस हत्याकांड ने पूरे शहर को दहला दिया था. तब शहर में अपने गैंग के जरिये पंकज दुबे सीरियल क्राइम को अंजाम दे रहा था.

पत्‍‌नी अनामिका के बयान पर अज्ञात अपराधियों के खिलाफ बिष्टुपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. प्राथमिकी के मुताबिक घटना के दिन शाम को दो युवक मंकी कैप पहनकर इलाज कराने पहुंचे. उस समय डा. प्रभात कुमार क्लीनिक नहीं पहुंचे थे. क्लीनिक में दोनों युवकों को बैठने के लिए कहा गया. थोड़ी देर बाद डा. प्रभात कुमार अपने क्लीनिक पहुंचे. युवकों ने बीमारी के बारे में बताई. डा. प्रभात ने बेड पर लेटने को कहा और जैसे ही जांच के लिए आला निकालने लगे, युवकों ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी और फरार हो गये.

पुलिस जांच में पंकज दुबे, एहतेशामुद्दीन उर्फ कबीर, राजास्वामी और मो. जावेद का नाम सामने आया. जावेद व राजास्वामी अबतक लापता हैं. पुलिस के अनुसार, डॉक्टर की हत्या जावेद और कबीर ने की थी. पंकज दुबे व राजास्वामी थोड़ी दूर पर खड़े थे. वर्ष 2009 में एक ट्रेनी एयर होस्टेस की होटल में दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई थी. मृतका की मां ने इस बात का खुलासा किया था कि जब ट्रेनी एयर होस्टेस को टीएमएच लाया गया तो प्रभात कुमार ने भर्ती लेने से इन्कार कर दिया था. इसलिए उनकी हत्या की गई.

(अन्नी अमृता की रिपोर्ट)

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जमशेदपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 3, 2018, 11:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...