लाइव टीवी
Elec-widget

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019: जुगसलाई में बीजेपी-आजसू की टक्कर ने मुकाबले को बनाया दिलचस्प

News18 Jharkhand
Updated: November 25, 2019, 6:30 PM IST
झारखंड विधानसभा चुनाव 2019: जुगसलाई में बीजेपी-आजसू की टक्कर ने मुकाबले को बनाया दिलचस्प
जुगसलाई में कुल 3 लाख 26 हजार 663 वोटर्स हैं. इसमें महिला मतदाता एक लाख 60 हजार 389 और पुरुष वोटर्स एक लाख 66 हजार 273 शामिल हैं. (File Photo)

2019 के चुनावी दंगल में जुगसलाई विधानसभा क्षेत्र (Jugsalai Assembly Constituency) में भाजपा से मुचिराम बाउरी, जेएमएम से मंगल कालिंदी, आजसू रामचंद्र सहिस और जेवीएम से रामचंद्र पासवान मैदान में हैं.

  • Share this:
जमशेदपुर. झारखंड की जुगसलाई विधानसभा क्षेत्र (Jugsalai Assembly Constituency) में शहरी और ग्रामीण, दोनों इलाके पड़ते हैं. यह सुरक्षित सीट (Reserved Seat) है. इस बार यहां की चुनावी लड़ाई काफी दिलचस्प हो गई है. पिछली दफा यहां बीजेपी (BJP) और आजसू (AJSU) गठबंधन के उम्मीदवार के तौर पर आजसू के रामचंद्र सहिस मैदान में थे. और उन्होंने जीत भी हासिल की थी. लेकिन इस बार सत्तापक्ष का गठबंधन टूटने के कारण यहां की स्थिति अलग है. आजसू और बीजेपी के उम्मीदवार आमने-सामने हैं. आजसू से रामचंद्र सहिस और बीजेपी से मुचिराम बावरी मैदान में हैं.

बीजेपी उम्मीदवार मुचीराम बावरी कहते हैं कि पिछली बार उन्होंने आजसू उम्मीदवार के लिए खूब मेहनत की थी. उनके लिए पोस्टर तक लगाये थे. लेकिन इस बार तस्वीर उल्टी है. आजसू के उम्मीदवार की तरफ से उन्हें टक्कर मिल रही है.

बीजेपी के लिए नाक की लड़ाई
जुगसलाई की लड़ाई को बीजेपी नाक की लड़ाई मान कर चल रही है. क्योंकि इस बार पार्टी को सीधी चुनौती विरोधी से नहीं, पुराने सहयोगी से मिल रही है. ऐसे में बीजेपी के तमाम स्थानीय नेता जुगसलाई के चुनाव प्रचार में जान लगा रहे हैं. स्थानीय सांसद विद्युतवरण महतो लगातार प्रचार अभियान में जुटे हैं. सांसद का दावा है कि जमशेदपुर में सियासी परिस्थियां जरूर बदली हैं, लेकिन सभी सीटों पर बीजेपी की जीत तय है.

जुगसलाई में कुल 3 लाख 26 हजार 663 वोटर्स हैं. इसमें महिला मतदाता एक लाख 60 हजार 389 और पुरुष वोटर्स एक लाख 66 हजार 273 शामिल हैं. 2019 के चुनावी दंगल में यहां पर भाजपा से मुचिराम बाउरी, जेएमएम से मंगल कालिंदी, आजसू रामचंद्र सहिस और जेवीएम से रामचंद्र पासवान मैदान में हैं. अधिकारी से नेता बने जेवीएम प्रत्याशी रामचन्द्र पासवान का आरोप है कि सीटिंग विधायक रामचंद्र सहिस ने क्षेत्र में काम नहीं किया. क्षेत्र के विकास के लिए चुनावी जंग में उतरा हूं.

ट्रैफिक जाम और रोजगार बड़े चुनावी मुद्दे
जुगसलाई विधानसभा क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति को देखें, तो इसमें शहरी और ग्रामीण दोनों इलाके पड़ते हैं. एक तरफ इस क्षेत्र में जमशेदपुर का सबसे बड़ा बाजार आता है, तो दूसरी तरफ लोआबासा जैसा सुदूर इलाका भी पड़ता है. बनारस सरीखी गलियों वाले जुगसलाई में ट्रैफिक जाम एक बड़ी समस्या है. बाजार में सब्जी, ठेले और खोमचों वालों को जगह आवंटित नहीं की गई है, जिससे उन्हें दुकान लगाने में दिक्कत होती है. स्थानीय युवाओं में रोजगार नहीं मिलने को लेकर आक्रोश भी है. ज्यादातर सरकारी और निजी ठेके बाहरी लोगों या कंपनियों को मिलते हैं. ये भी बड़ा चुनावी मुद्दा है. यहां के व्यवसायी सबसे ज्यादा टैक्स देते हैं, लेकिन सुविधा के नाम पर इन्हें कुछ नहीं मिलता.
Loading...

जातिगत समीकरण
जुगसलाई में सामान्य वोटर्स 30 प्रतिशत हैं, वहीं एसटी- एससी और अन्य की आबादी 70 फीसदी है. शहरी इलाके में विधायक फंड से सड़कें, गलियां और नालियां बनी हैं. रेलवे ब्रिज को भी हरी झंडी मिल गई है. लेकिन ग्रामीण इलाके आज भी विकास की बाट जोह रहे हैं. लोगों का आरोप है कि विधायक रामचंद्र सहित ने पिछले पांच साल में ग्रामीण इलाकों की ओर ध्यान नहीं दिया. हालांकि लोग केंद्र सरकार की योजनाओं का लाभ मिलने की बात स्वीकारते हैं.

7 नवंबर को वोटिंग 
2014 के विधानसभा चुनाव में यहां पर आजसू के रामचन्द्र सहिस को यहां पर जीत हासिल हुई थी. रामचंद्र सहिस ने जेएमएम के मंगल कालिंदी को हराया था. लेकिन इस बार चुनावी परिस्थित बगली हुई है. बीजेपी और आजसू आमने-सामने हैं. जेएमएम और जेवीएम का भी जोर है. देखना दिलचस्प होगा कि जुगसलाई में सबसे ज्यादा किसका जोर चलता है. यहां दूसरे चरण में 7 नवंबर को वोट डाले जाएंगे.

(रिपोर्ट- बृजम पांडेय)

ये भी पढ़ें- झारखंड विधानसभा चुनाव: मांडू में तीन भाइयों के बीच चुनावी संघर्ष

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जमशेदपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 25, 2019, 6:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com