होम /न्यूज /झारखंड /झारखंड में रघुवर नहीं WhatsApp सरकार है : बाबूलाल मरांडी

झारखंड में रघुवर नहीं WhatsApp सरकार है : बाबूलाल मरांडी

File Photo

File Photo

पूर्व मुख्‍यमंत्री और झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक) सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने कहा कि रघुवर दास सरकार 'व्हाट्सएप' ...अधिक पढ़ें

  • News18
  • Last Updated :

    पूर्व मुख्‍यमंत्री और झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक) सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने कहा कि रघुवर दास सरकार 'व्हाट्सएप' सरकार है और वह दिल्ली से आ रहे 'संदेशों' के आधार पर काम कर रही है.

    रघुवर दास सरकार के सत्ता में आने के बाद बड़ी संख्या में अधिकारियों और नौकरशाहों के तबादलों की आलोचना करते हुए मरांडी ने कहा कि दिल्ली से व्हाट्सएप संदेश आने के बाद राज्य सरकार तबादले और नियुक्तियों का नोटिफिकेशन जारी करती है.

    पूर्व मुख्‍यमंत्री मरांडी ने राज्‍य सरकार पर मनमाने तरीके से और नियमों का उल्लंघन करके तबादले करने का आरोप लगाया. तबादलों के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री ने कथित चीनी घोटाले को लेकर भी प्रदेश सरकार की आलोचना की.

    मरांडी जमशेदपुर में झारखंड विकास मोर्चा की 'न्याय यात्रा' की शुरुआत करने आए थे. इस यात्रा का लक्ष्य सरकार की असफलताओं को सबके सामने लाना और लोगों को न्याय दिलाना है. तबादलों के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री ने कथित चीनी घोटाले को लेकर भी दास सरकार की आलोचना की.

    उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार बीपीएल परिवारों के लिए 35-36 रुपए प्रति किलोग्राम चीनी खरीद रही है, जबकि बाजार में यह 26-27 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से उपलब्ध है.

    उन्होंने मांग की कि खाद्य एवं जनवितरण मंत्री को इस बारे में स्पष्टीकरण देना चाहिए. उन्होंने जेएमएम और कांग्रेस के इस बयान का समर्थन किया कि भाजपा बिहार विधानसभा चुनाव से पहले कोष जुटाने के लिए ऐसी गतिविधियों में संलिप्त है.

    Tags: Babulal marandi, Raghubar Das

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें