• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • प्याज के बढ़ते दाम पर बोले मंत्री सरयू राय- सरकार की स्थिति पर नजर

प्याज के बढ़ते दाम पर बोले मंत्री सरयू राय- सरकार की स्थिति पर नजर

मंत्री सरयू राय ने कम मार्जिन पर प्याज बेचने की कारोबारियों से अपील की

मंत्री सरयू राय ने कम मार्जिन पर प्याज बेचने की कारोबारियों से अपील की

मंत्री ने कहा कि ऐसी सूचना है कि नासिक मंडी से आसानी से बांग्लादेश प्याज भेजी जा रही है, इस पर रोक लगनी चाहिए.

  • Share this:
    जमशेदपुर. झारखंड में प्याज की बढ़ती से लोग परेशान हैं. रांची और जमशेदपुर में प्याज 65 से 70 रुपये किलो बिक रही है. इसको देखते हुए खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने जमशेदपुर के परसुडीह स्थित बाजार समिति का औचर निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने प्याज के व्यवसायियों को कम मार्जिन में प्याज बेचने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि अभी स्थिति बिगड़ी नहीं है, आगे और दाम बढ़ने पर सरकार थोक में खरीदकर लोगों को उपलब्ध कराएगी. ऐसी सूचना है कि नासिक मंडी से आसानी से बांग्लादेश प्याज भेजी जा रही है, इस पर रोक लगनी चाहिए.

    रांची में 60 रुपये किलो बिक रही प्याज

    रांची में भी प्याज 60 से 70 रुपये किलो बिक रही है. जबकि कुछ दिन पहले तक यह 25 रुपये किलो की दर से मिल रही थी. ऐसा महाराष्ट्र में आई बाढ़ के चलते हुआ है. प्याज की सप्लाई कम हो गई है. दुकानदारों की माने तो प्याज के दाम और बढ़ने वाले हैं.

    खरीदारों का कहना है कि प्याज का दाम बढ़ने से लोग की परेशानी बढ़ी है. वे अब पहले की तुलना में कम प्याज खरीद रहे हैं. सब्जी और सलाद में भी इसका इस्तेमाल कम कर रहे हैं.

    दुकानदारों के मुताबिक त्योहार के मौसम में लोग प्याज के आंसू रोने वाले हैं. आगे प्याज के दाम और बढ़ने वाले हैं. यह सब महाराष्ट्र में आई बाढ़ के चलते हुआ है.

    सप्लाई कम होने के चलते बढ़ी कीमत 

    रांची के पंडरा बाजार समिति में प्याज व्यवसायी लखन साहू ने बताया कि औसतन प्रतिदिन 300 टन प्याज की आवक रांची में होती है. लेकिन नासिक से प्याज की सप्लाई कम होने के कारण पूरा बाजार अब लोकल प्याज पर निर्भर हो गया है.

    रांची चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष शंभु गुप्ता ने बताया कि पंडरा में औसतन 15 से 18 ट्रक माल आता है. मगर सप्लाई करने वाले राज्यों की मंडी में ही इसकी कीमत बढ़ी हुई है. लोकल और नासिक की प्याज की कीमत लगभग बराबर है. संघ के द्वारा इस बात का ध्यान रखा जा रहा है कि प्याज की कालाबाजारी न हो.

    इनपुट- आशीष कुमार

    ये भी पढ़ें- रांची में प्याज के आंसू रो रहे लोग, कीमत 60 रुपये किलो तक पहुंची

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज