जमशेदपुर लोकसभा सीट: जेएमएम के 'टाइगर' के सामने टिक पाएंगे बीजेपी के विद्युत?

जमशेदपुर सीट पर बीजेपी और कांग्रेस को चार-चार बार और जेएमएम को तीन बार जीत मिली है.

News18 Jharkhand
Updated: May 10, 2019, 3:07 PM IST
जमशेदपुर लोकसभा सीट: जेएमएम के 'टाइगर' के सामने टिक पाएंगे बीजेपी के विद्युत?
जमशेदपुर में बीजेपी- महागठबंधन में सीधा मुकाबला
News18 Jharkhand
Updated: May 10, 2019, 3:07 PM IST
जमशेदपुर लोकसभा सीट पर वैसे तो 23 प्रत्याशी मैदान में हैं. लेकिन सीधा मुकाबला बीजेपी के विद्युतवरण महतो और महागठबंधन के तहत जेएमएम प्रत्याशी चंपई सोरेन के बीच है. विद्युतवरण महतो यहां के सीटिंग सांसद हैं. 2014 के चुनाव में उन्होंने जेएमएम का साथ छोड़कर बीजेपी का दामन थामा. और लोकसभा चुनाव में जेवीएम के प्रत्याशी अजय कुमार को हराया. विद्युतवरण जेएमएम के टिकट पर बहरागोड़ा से विधायक रह चुके हैं. उन्होंने अपनी सियासत की शुरुआत जेएमएम से ही की.

जेएमएम प्रत्याशी चंपई सोरेन झारखंड सरकार में दो बार मंत्री रह चुके हैं. वह लगातार सरायकेला से जेएमएम विधायक रहे हैं. हालांकि उन्होंने अपनी चुनावी सफर की शुरुआत निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर 1991 में की थी. 1991 में वह सरायकेला से जीतकर पहली बार विधानसभा पहुंचे थे. चंपई जेएमएम में शिबू सोरेन और हेमंत सोरेन के बाद तीसरे नंबर के नेता हैं. पार्टी में उनकी मजबूत पकड़ और टाइगर के नाम से जाने जाते हैं. जमशेदपुर और उसके आस-पास के इलाकों में वह मजदूरों के लिए आंदोलन करते रहे हैं.

जमशेदपुर औद्योगिक नगर के रूप में देश प्रसिद्ध है. पारसी व्यवसायी जमशेदजी नशरवान जी टाटा ने यहां 1907 में टाटा आयरन एंड स्टील कंपनी (टिस्को) की स्थापना की. उसी के साथ इस शहर की भी नींव पड़ी. यहां पर टाटा घराने की कई कंपनियां स्थापित हैं.

जमशेदपुर सीट पर बीजेपी और कांग्रेस को चार-चार बार और जेएमएम को तीन बार जीत मिली है. 1957 में यहां पहला लोकसभा चुनाव हुआ. इसमें कांग्रेस के मोहिन्दर कुमार घोष जीते. 1962 में कम्यूनिस्ट पार्टी के उदयकर मिश्रा जीतने में कामयाब हुआ. 1967 में कांग्रेस पार्टी के एससी प्रसाद और 1971 में कांग्रेस के ही सरदार स्वर्ण सिंह जीते. 1977 और 1980 में इस सीट से जनता पार्टी के रुद्र प्रताप सारंगी जीते. 1984 में कांग्रेस के गोपेश्वर जीते.

1989 और 1991 में इस सीट से झारखंड मुक्ति मोर्चा के शैलेंद्र महतो जीते. 1996 में बीजेपी के नितिश भारद्वाज जीतने में कामयाब हुए. 1998 और 1999 में बीजेपी के टिकट पर आभा महतो जीतीं. 2004 में झारखंड मुक्ति मोर्चा के सुनील महतो जीते. 2007 में हुए उपचुनाव में झारखंड मुक्ति मोर्चा के टिकट पर ही सुमन महतो जीते. 2009 में इस सीट से बीजेपी के टिकट पर अर्जुन मुंडा जीते. 2011 में हुए उपचुनाव में झारखंड विकास मोर्चा के अजय कुमार जीते. 2014 में बीजेपी के विद्युतवरन महतो जीतने में कामयाब हुए.

इस लोकसभा क्षेत्र के अन्तर्गत छह विधानसभा सीटें, बहरागोरा, घाटशिला, पोटका, जुगसलाई, जमशेदपुर पूर्वी और जमशेदपुर पश्चिमी आती हैं. इनमें बहरागोड़ा पर जेएमएम का कब्जा है. बाकी पांच पर एनडीए विधायक हैं. यहां कुल मतदाता 16 लाख 70 हजार 371 हैं. इनमें महिला 8 लाख 14 हजार 481 और पुरुष मतदात 8 लाख 55 हजार 831 शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- अमित शाह बोले- कांग्रेस के 3 जी राहुल, सोनिया और प्रियंका..बीजेपी के गांव, गौ और गंगा
फिर मोदी सरकार बनी तो घुसपैठियों को चुन-चुन कर देश से निकालेंगे- अमित शाह

CM रघुवर बोले- सालों के शासन में कांग्रेस ने देश को बेरोजगारी, गरीबी, घोटाले और वंशवाद दिये

धनबाद: राहुल गांधी के रोड शो में लगे मोदी जिंदाबाद के नारे
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...