लाइव टीवी

एमजेएम के इमरजेंसी वार्ड में मरीजों के बीच रखा गया शव

Ashish Tiwari | News18 Jharkhand
Updated: October 1, 2018, 9:05 PM IST
एमजेएम के इमरजेंसी वार्ड में मरीजों के बीच रखा गया शव
एमजेएम के इमरजेंसी में रखा शव

कोल्हान का सबसे बड़े एमजीएम अस्पताल एक बार एक सप्ताह के भीतर दूसरी बार सुर्खियों के घेरे में है.इन दिनों एमजीएम अस्पताल का इमरजेंसी वार्ड ही मोर्चरी बना हुआ है. अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में अज्ञात शवों को रखा जाने लगा है, इससे ना सिर्फ उस वाड में भर्ती मरीज उनके तीमारदार भयभीत हैं.

  • Share this:
कोल्हान का सबसे बड़े एमजीएम अस्पताल एक बार एक सप्ताह के भीतर दूसरी बार सुर्खियों के घेरे में है.इन दिनों एमजीएम अस्पताल का इमरजेंसी वार्ड ही मोर्चरी बना हुआ है. अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में अज्ञात शवों को रखा जाने लगा है, इससे ना सिर्फ उस वाड में भर्ती मरीज उनके तीमारदार भयभीत हैं, यहां उठ रही बदबू से वह परेशान है. लाशों से संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है.सोमवार इमरजेंसी वार्ड में एक शव को लगभग 12 घंटों से बर्फ पर लिटा कर रखा गया था.

इस नजारे को देख लग रहा है कि यहां के अधिकारियों ने तीन दिन पहले पड़ी फटकार से कोई सबक नहीं लिया.एमजीएम अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में बाजार से खरीद कर बर्फ लाकर शव को रखा देख हर कोई हैरत में है. बर्फ सिर्फ इसलिए कि उस शव से बदबू नहीं आ सके. लेकिन कितना ही बर्फ लगा ली जाए, शव से दुर्गंध तो आती ही है.

वहीं दो दिन पहले भी एक शव को इसी तरह इमरजेंसी के शौचालय के पास एक शव को रखा गया था जिससे अस्पताल मे चूहों ने बुरी तरह काट खाया था. जब मीडिया ने इस बर्फ पर पड़े शव की खबर बनाई तो उसे शीतगृह में रखा गया. जब अस्पताल के अधीक्षक से इस मामले में बात की गई तो उन्होंने साफ कहा कि दो महीनों से अस्पताल का शीतगृह का फ्रिजर खराब है जिससे शव रखने में परेशानी हो रही है.

यह भी पढ़ें - आंबेडकर भी सिर्फ 10 साल के लिए आरक्षण चाहते थे: सुमित्रा महाजन

यह भी पढ़ें - बिजली के अभाव में नहीं मिला इलाज, अस्पताल में तड़प-तड़प कर दो मरीजों की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जमशेदपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 1, 2018, 8:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...