• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • ट्रस्ट में यौन शोषण केस: मुख्य आरोपी ने पति की मौत को कहा हत्या, अपनी जान को भी खतरा बताया

ट्रस्ट में यौन शोषण केस: मुख्य आरोपी ने पति की मौत को कहा हत्या, अपनी जान को भी खतरा बताया

मदर टेरेसा ट्रस्ट में यौन शोषण कांड के आरोपी और ट्रस्ट के संचालक.

झारखंड में कुख्यात हो चुके मदर टेरेसा ट्रस्ट दुष्कर्म कांड में मुख्य आरोपी हरपाल सिंह थापर की माैत पर पत्नी पुष्पा रानी ने पुलिस और जेल प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए. सीबीआई जांच की मांग करते हुए पूरी कहानी सुनाई.

  • Share this:
जमशेदपुर. खड़ंगाझार शमशेर टावर स्थित मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट में नाबालिग के साथ यौन शोषण के मामले में जेल में बंद ट्रस्ट संचालक हरपाल सिंह थापर की संदिग्ध मौत की सीबीआई जांच की मांग की गई है. थापर की पत्नी पुष्पा रानी तिर्की ने कहा कि 12 जुलाई को पुलिस ने जब पति से मुलाकात करवाई थी, उस समय थापर स्वस्थ थे. तिर्की ने आरोप लगाया कि याेजनाबद्ध तरीके से हत्या की गई है, जिसकी सीबीआई जांच कराई जाना चाहिए. यही नहीं, तिर्की ने अपने अन्य परिजनों की जान को खतरा होने की बात भी कही.

थापर के अंतिम संस्कार के लिए 12 घंटे के पे-रोल पर जेल से घर पहुंची पुष्पा रानी ने जेल प्रशासन पर मौत की खबर छुपाने का आरोप लगाते हुए बताया कि 46 साल में थापर को काेई खास बीमारी नहीं थी. वज़न ज़्यादा हाेने के कारण चलने में थोड़ी दिक्कत रहती थी. तिर्की ने कहा, 'जेल में ननद गीता कौर और भांजे आदित्य सिंह समेत मेरी जान काे भी खतरा है.' तिर्की यह आरोप भी लगाया कि 'पुलिसवालाें से लेकर विभिन्न दलाें के नेता थापर के दफ्तर आते थे. पुलिस ने कई लाेगाें काे ट्रस्ट में ठहरवाया भी था.'

ये भी पढ़ें : डायन कहकर पहले युवक ने की चाची की हत्या, फिर चाचा ने भतीजे की जान ली

Jharkhand news, jamshedpur news, minor rape case, hostel rape case, jharkhand rape case, झारखंड न्यूज़, झारखंड बलात्कार कांड, नाबालिग से बलात्कार, हॉस्टल बलात्कार कांड
12 घंटों के पेरोल पर घर पहुंची पुष्पारानी तिर्की ने अपने पति हरपाल सिंह थापर की मौत को हत्या बताया.


तिर्की के शब्दों में क्या थी कहानी?
12 घंटे के पेरोल के बाद रात 11 बजे पुलिस ने तिर्की ने वापस जेल भेज दिया, इससे पहले तिर्की ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को भी पत्र लिखने की बात कही. तिर्की ने थापर की मौत से पहले का घटनाक्रम बताते हुए कहा, 'जेल प्रशासन ने गिरफ्तारी के बाद पहली बार 12 जुलाई को पति के साथ सुबह 8 बजे मुलाकात कराई थी. तब वह बिल्कुल ठीक थे. करीब 20 मिनट की बातचीत में उन्होंने कहा था, चिंता मत करो, वकील से बात हुई है, हम सभी जल्द छूट जाएंगे. फिर 16 जुलाई को जेल से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के ज़रिये पेशी थी.'

इसके आगे तिर्की ने बताया, 'पेशी के दौरान थापर नहीं पहुंचे. जज को बताया गया कि थापर की तबीयत खराब है. उनके पैर में सूजन है, चलने में दिक्कत है. जज ने भी थापर को पेश करने से मना कर दिया. तब मुझे उनकी तबीयत खराब होने की जानकारी हुई. मैंने जेल के डॉ. राजीव से जानकारी ली तो उन्होंने कहा कि थापर को चलने में दिक्कत थी. एमजीएम अस्पताल जाने से इनकार कर दिया. 16 जुलाई की रात 8 बजे जेल प्रशासन ने खबर भिजवाई कि थापर को हार्ट अटैक आया. 17 जुलाई की सुबह चाय देने वाले ने मौत की खबर दी.'

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज