फैन्स से रू-ब-रू हुए रस्किन बॉन्ड, कहा- टीचर की सजा ने बनाया लेखक

जमशेदपुर में प्रशंसकों के साथ रू-ब-रू हुए भारतीय अंग्रेजी साहित्यकार रस्किन बॉन्ड, रस्किन बॉन्ड ने अपने चिर परिचित अंदाज़ में लोगों को खूब हंसाते हुए सवालों का जवाब दिया. उनकी किताब सुजेन सेवन हस्बैंड पर फिल्म निर्देशक विशाल भारद्वाज ‘सात खून माफ’ फिल्म भी बना चुके हैं

Anni Amrita | News18 Jharkhand
Updated: December 8, 2018, 12:31 PM IST
फैन्स से रू-ब-रू हुए रस्किन बॉन्ड, कहा- टीचर की सजा ने बनाया लेखक
फैन से रू-ब-रू हुए रस्किन बॉन्ड, कहा- टीचर की सजा ने बनाया लेखक
Anni Amrita | News18 Jharkhand
Updated: December 8, 2018, 12:31 PM IST
मशहूर भारतीय अंग्रेजी साहित्यकार रस्किन बॉन्ड इन दिनों झारखंड दौरे पर हैं. शनिवार रात रस्किन बॉन्ड जमशेदपुर पहुंचे और जहां वे पहले लोयोला फेजी ऑडिटोरियम में बच्चों से रू-ब-रू हुए फिर देर शाम टाटा स्टील के कार्यक्रम में शिरकत करते हुए लिटरली मीट को समर्पित टाटा के आफ्टरवर्ड्स का अनावरण किया. इसमें पिछले कई सालों से लिटरली मीट कार्यक्रमों के महत्वपूर्ण हिस्सों और अतिथियों के संदेश को समाहित किया गया.

कार्यक्रम के दौरान संचालिका माल्विका बनर्जी ने रस्किन बॉन्ड से कई सवाल पूछे तो वही रस्किन बॉन्ड ने अपने चिर परिचित अंदाज़ में लोगों को खूब हंसाते हुए सवालों का जवाब दिया. रस्किन बॉन्ड ने कार्यक्रम के दौरान कई बातों का जिक्र किया. रस्किन बॉन्ड ने बताया कि कैसे लाईब्रेरी में बंद होने की सजा ने उनको लेखक बना दिया. उस घटना के बाद से उन्होंने लिखना शुरू कर दिया. गौरतलब है कि उनकी किताब सुजेन सेवन हस्बैंड पर फिल्म निर्देशक विशाल भारद्वाज ‘सात खून माफ’ फिल्म भी बना चुके हैं जिसकी हीरोइन प्रियंका चोपड़ा रही थीं. 83 वर्षीय रस्किन बॉन्ड बच्चों के लिए अपनी लिखी कहानियों को लेकर दुनिया भर में मशहूर हैं और उन्हें पद्मभूषण, पद्मश्री समेत अनेक अवार्डों से नवाज़ा जा चुका है. रस्किन बॉन्ड भारत के मसूरी में रहते हैं और उनकी कहानियों में पहाड़ों का विशेष जिक्र होता है.

 

यह भी देखें-  VIDEO : जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में छात्राओं ने की नाटक 'महिषासुर वध' की जीवंत प्रस्तुति

यह भी देखें- VIDEO: विश्व जल दिवस पर जल संरक्षण सेमिनार

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर