लाइव टीवी

रोटरी क्लब ने पूर्व सैनिकों के परिवारों को दिखाई 'उरी- दि सर्जिकल स्ट्राइक'

Ashish Tiwari | News18 Jharkhand
Updated: January 31, 2019, 5:38 PM IST
रोटरी क्लब ने पूर्व सैनिकों के परिवारों को दिखाई 'उरी- दि सर्जिकल स्ट्राइक'
जमशेदपुर में 'उरी-दि सर्जिकल स्ट्राइल' देखते पूर्व सैनिकों के परिवार

इस फिल्म को देखकर पदम श्री अवार्ड जमना टुडू काफी भावुक हो गए. मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सैनिकों का जीवन परिश्रम से भरा होता है.

  • Share this:
जमशेदपुर के एक सिनेमाघर में उरी की घटना के बाद भारतीय सेना द्वारा चलाए गए सर्जिकल स्ट्राइक पर बनी फिल्म को रोटरी क्लब द्वारा पूर्व सैनिकों को दिखाया गया. पूर्व सैनिकों के परिवार के सदस्यों के साथ इस अवसर पर पदमश्री जमना टू डू भी मौजूद थीं. पिछले दिनों सैनिकों के जीवन पर आधारित ' उरी-दि सर्जिकल स्ट्राइक ' हिंदी फिल्म रिलीज की गई.  विदित हो कि पाकिस्तानी आतंकवादियों द्वारा जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर स्थित आर्मी बेस कैंप में हमला कर कई जवानों को शहीद कर दिया गया था.इस घटना के बाद देश की सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक चलाकर दुश्मन की जमीन पर जाकर उन्हें मौत के घाट उतारा था.

इस फिल्म को देखकर पदम श्री अवार्ड जमना टुडू काफी भावुक हो गए. मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सैनिकों का जीवन परिश्रम से भरा होता है. इस फिल्म ने अपनों की याद दिला दी है जो देश पर अपनी जान निछावर कर चुके हैं. हम देश के सैनिकों के बुलंद हौसले को सलाम करते हैं. इस मौके पर जमशेदपुर रोटरी क्लब द्वारा पदम श्री अवार्ड जमना टू डू के हाथों ऊर्जा नामक एक स्कीम की शुरुआत भी की गई. इस स्कीम के तहत सैनिकों के परिवारों की जरूरत को क्लब द्वारा पूरा किया जाएगा.

इस संदर्भ में रोटरी क्लब की सचिव ऋचा अग्रवाल ने बताया कि सीमा पर अपना सीना तान कर खड़े सैनिकों के दम पर आज हम देश के अंदर सुरक्षित हैं. इनके हौसलों को हम सलाम करते हैं. ऋचा अग्रवाल ने परिवार के लोगों से कोसों दूर सीमा पर दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब दे रहे सैनिकों के परिवार के लिए ऊर्जा नामक स्कीम की शुरुआत की गई है. इसके माध्यम से हम सैनिकों के परिवारों की हर छोटी-बड़ी जरूरत को पूरा कर अपने सामाजिक दायित्व का निर्वहन करेंगे.

वहीं इस फिल्म को देखकर अपने बीते दिनों को याद करने पहुंचे पूर्व सैनिक डॉ कमल किशोर ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक चलाकर जिस तरह भारतीय सेना ने शहीद सैनिकों का बदला लिया, उससे देश के सैनिकों का मनोबल काफी बढ़ा है. इसे देखने के लिए तीनों सेनाओं के पूर्व सैनिक यहां मौजूद हैं. वहीं इस फिल्म को देखकर हम अपने बीते दिनों को याद कर रहे हैं कि हम भी कभी सीमा पर दुश्मनों का सामना सीना तान कर करते थे. फिल्म सीमा पर तैनात सैनिकों को एक नई ऊर्जा प्रदान करेगी.

यह भी पढ़ें- सदन में अखबार पढ़ रह थे मंत्री, स्पीकर ने डांट पिलाते हुए कहा- पढ़ना है तो जाएं वाचनालय

यह भी पढ़ें- झारखंड की बेटी सलीमा टेटे बनी जूनियर महिला हॉकी टीम की कप्तान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जमशेदपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 31, 2019, 5:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...