लाइव टीवी

सरयू राय बोले- जनता के हितों की अनदेखी पर नई सरकार का भी करेंगे विरोध
Jamshedpur News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: December 24, 2019, 3:31 PM IST
सरयू राय बोले- जनता के हितों की अनदेखी पर नई सरकार का भी करेंगे विरोध
पूर्व मंत्री सरयू राय ने कहा कि नई सरकार को सकारात्मक कार्यों में सहयोग करेंगे (फाइल फोटो)

भावी सीएम हेमंत सोरेन (Hemant Soren) को लेकर सरयू राय (Saryu Ray) ने कहा कि अब तक सूबे में वैमनस्य पर राजनीतिक रोटियां सेंकी गई हैं, लेकिन उम्मीद है कि हेमंत सोरेन के नेतृत्व में ये हालात बदलेंगे. उन्होंने हेमंत सोरेन को बड़ी लकीर खींचने की सलाह दी.

  • Share this:
जमशेदपुर. जमशेदपुर पूर्वी सीट पर सीएम रघुवर दास (Raghuvar Das) को हराकर सरयू राय (Saryu Ray) सुर्खियों में हैं. मंगलवार सुबह उन्होंने अपनी जीत को लेकर क्षेत्र की जनता का आभार व्यक्त किया. और भरोसा दिलाया कि एक-एक कर क्षेत्र की समस्याओं को चिन्हित कर काम किया जाएगा. सिर्फ माला और भाषण नहीं होगा. 86 बस्ती के मसले पर नवनिर्वाचित विधायक ने कहा कि बगैर कानून बनाए न तो मालिकाना हक मिल सकता है, न नियमितिकरण हो सकता है. हालांकि दिल्ली की तर्ज पर झारखंड में भी बस्तियां नियमित हो सकती हैं. उन्होंने उम्मीद जताया कि गठबंधन की सरकार इस दिशा में ठोस कदम उठाएगी.

हेमंत को बड़ी लकीर खींचने की सलाह

भावी सीएम हेमंत सोरेन को लेकर सरयू राय ने कहा कि अब तक सूबे में वैमनस्य पर राजनीतिक रोटियां सेंकी गई हैं, लेकिन उम्मीद है कि हेमंत सोरेन के नेतृत्व में ये हालात बदलेंगे. उन्होंने हेमंत सोरेन को बड़ी लकीर खींचने की सलाह दी. सरयू राय ने कहा कि हेमंत को वादा किया है कि वे गठबंधन सरकार को अस्थिर करने में नहीं, बल्कि सकारात्मक कार्यों में सहयोग करेंगे.

टाटा मोटर्स को नसीहत देते हुए सरयू राय ने कहा कि टाटा मोटर्स को कानून के दायरे में काम करना चाहिए. मजदूर हित को लेकर अच्छी कार्य संस्कृति बनानी चाहिए. कंपनी को कम वेतनवालों के बारे में सोचना चाहिए.

जीत पर गुमान नहीं

सीएम रघुवर दास पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जमशेदपुर पूर्वीक्षेत्र में भय का वातावरण बन गया था. लेकिन जो संस्कृति अब तक यहां चलती आ रही थी, उसे अब बदलना होगा. अगर न बदला, तो फिर वही होगा. उन्होंने कहा कि किसी भी विधायक को शासन में हस्तक्षेप करने का हक नहीं है.

चुनाव जीतने पर सरयू राय ने कहा कि जनता ने मेरे लिए चुनाव लड़ा. इसलिए मुझे कोई गुमान नहीं है कि मैं जीत गया हूं. पूर्व मंत्री ने साफ कर दिया कि अगर गठबंधन सरकार जनता के हितों को नजरअंदाज करेगी, तो उसका भी विरोध होगा.बता दें कि जमशेदपुर पूर्वी सीट पर सीएम रघुवर दास अपने ही मंत्री से हार गये. बतौर निर्दलीय प्रत्याशी सरयू राय ने उन्होंने 15 हजार से ज्यादा वोटों से हराया. सोमवार देर रात नतीजे घोषित होने के बाद मंगलवार सुबह टेल्को स्थित भुवनेश्वरी मंदिर जाकर सरयू राय ने मत्था टेका. रास्ते में बिरसानगर संडे मार्केट में लोगों ने उनका भव्य स्वागत किया.

रिपोर्ट- अन्नी अमृता

ये भी पढ़ें- झारखंड की जनता को प्रतिनिधि के रूप में नहीं चाहिए पूर्व अधिकारी, ज्यादातर हारे

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जमशेदपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 24, 2019, 3:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर