पारा शिक्षकों के समर्थन व स्कूलों के विलय प्रक्रिया के विरोध में एसयूसीआई कम्युनिस्ट की रैली
Jamshedpur News in Hindi

पारा शिक्षकों के समर्थन व स्कूलों के विलय प्रक्रिया के विरोध में एसयूसीआई कम्युनिस्ट की रैली
एसयूसीआई कम्युनिस्ट का पारा शिक्षकों के पक्ष में प्रदर्शन

जमशेदपुर में एसयूसीआई कम्युनिस्ट के द्वारा राज्य के पारा शिक्षकों की मांगों को सही ठहराते हुए एवं राज्य भर में स्कूलों के विलय की प्रक्रिया के खिलाफ विरोध रैली निकाली गई. इस रैली में छात्रों के संगठन एआईडीएसओ ने भी अपना समर्थन दिया. यह विरोध रैली साकची के आमबगान मैदान से निकलकर जिला मुख्यालय पहुंची जहां यह प्रदर्शन में तब्दील हो गई.

  • Share this:
जमशेदपुर में एसयूसीआई कम्युनिस्ट के द्वारा राज्य के पारा शिक्षकों की मांगों को सही ठहराते हुए एवं राज्य भर में स्कूलों के विलय की प्रक्रिया के खिलाफ विरोध रैली निकाली गई. इस रैली में छात्रों के संगठन एआईडीएसओ ने भी अपना समर्थन दिया. यह विरोध रैली साकची के आमबगान मैदान से निकलकर जमशेदपुर जिला मुख्यालय पहुंची जहां यह प्रदर्शन में तब्दील हो गई. इस दौरान इन्होंने राज्य भर में आंदोलन कर रहे पारा शिक्षकों के समर्थन में नारे लगाए. एसयूसीआई कम्युनिस्ट के कार्यकर्ताओं ने साथ ही राज्य भर में हो रहे स्कूलों के विलयन की प्रक्रिया का विरोध भी जताया.

एसयूसीआई कम्युनिस्ट के सचिव विमल दास ने कहा कि कि पारा शिक्षकों को समान काम का सामान वेतन मिलना चाहिए. साथ ही राज्य में स्कूलों के विलय होने से गरीब तबके बच्चे ड्राप आउट हो जाएंगे और शिक्षा से वंचित रह जाएंगे. पारा शिक्षकों का समायोजन सरकार प्राथमिकता दे. उन्होंने कहा कि प्रदेश भर से सरकारी स्कूलों में शिक्षकों का भारी अभाव है. स्कूलों की दशा खराब है. विशेषकर ग्रामीण और आदिवासी क्षेत्र में. अगर पारा शिक्षकों की तैनाती होती है तो इस से काफी बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा में जोड़ा जा सकेगा.

यह भी पढ़ें - कार्यकर्ता को आगामी चुनाव के लिए जागरुक करने को बाबू लाल मरांडी ने किया सम्मेलन



यह भी पढ़ें - झारखंड सरकार हर साल किसानों को प्रति एकड़ 5 हजार रुपए देगी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading