जमशेदपुर में टाटा स्टील के कर्मचारी ने पत्नी, 2 बेटी और ट्यूशन टीचर का रेत डाला गला

एसएसपी और एसपी मौके पर पहुंचकर मामले की जांच में जुटे हुए हैं.

एसएसपी और एसपी मौके पर पहुंचकर मामले की जांच में जुटे हुए हैं.

Jamshedpur News: जमशेदपुर में टाटा स्टील के फायरब्रिगेड कर्मी सुनील ने अपनी पत्नी, दो बच्चे और ट्यूशन पढ़ाने वाली टीचर रिंकी कुमारी की धारदार हथियार से गला रेत दिया. और घर से फरार हो गया.

  • Share this:
रिपोर्ट- अभिनव कुमार

जमशेदपुर. झारखंड के जमशेदपुर से बड़ी खबर आ रही है. टाटा स्टील के कर्मचारी ने अपनी पत्नी, दो बच्चियां और बच्चियों की ट्यूशन टीचर की गला रेतकर निर्मम हत्या कर दी. घटना कदमा इलाके की है. घटना की सूचना मिलते ही एसएसपी और सिटी एसपी मौके पर पहुंचकर मामले की छानबीन में जुटे हैं.

जानकारी के मुताबिक कदमा- तनसा रोड स्थित घर में टाटा स्टील के फायर ब्रिगेड कर्मी दीपक कुमार ने अपनी पत्नी, दो बच्चियां और ट्यूशन पढ़ाने वाली टीचर रिंकी घोष की धारदार हथियार से गला रेत दिया. और घर से फरार हो गया. घर से खून की धारा बाहर निकलने पर स्थानीय लोगों में सनसनी मच गई. तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी गई. पुलिस ने मौके पर आकर छानबीन की, तो चार लोगों की हत्या की घटना सामने आई. पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी है. आसपास के लोगों से पूछताछ की जा रही है. फिलहाल हत्या के पीछे की वजह का पता नहीं चल पाया है. घटना कदमा थाना इलाके के तीस्ता रोड स्थित क्वार्टर नंबर -97 एन में घटी.

पुलिस ने दीपक की पत्नी वीणा कुमारी (36), दो बेटी श्रावणी कुमारी (15), सानवी कुमारी (10) और रामजन्म नगर निवासी शिक्षिका रिंकी घाेष (21) के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया. चारों की हत्या किसी भारी-भरकम हथियार से की गई है. एसएसपी डॉ. एम तमिल वणान, सिटी एसपी सुभाष चंद्र जाट मौके पर पहुंचकर मामले की जांच में जुटे हैं.
मृतिका वीणा कुमारी के भाई विनोद कुमार ने बताया शाम करीब 4 बजे वह अपनी बहन के घर आया तो दरवाजे पर ताला लगा हुआ था, जबकि अंदर एसी चल रहा था. ताला तोड़कर वह घर में घुसा तो बिस्तर पर अपनी बहन और दोनों भांजी की लाश पड़ी देखी. बगल के कमरे में शिक्षिका रिंकी घोष की लाश पड़ी मिली.

विनोद के मुताबिक उसके बहनोई ने ही इस घटना को अंजाम दिया. आरोपी ने अपने एक साथी टेल्को निवासी रोशन और उसके साले पर भी हमला किया. दोनों का टीएमएच में इलाज चल रहा है. दीपक ने रोशन और उसके परिवार के लोगों को सोमवार को लंच पर घर बुलाया था.

विनोद की माने तो सुबह उसका बहनोई अपने सारे गहने उसके घर आया था. चोरी के डर से आरोपी ने सारे गहने अपने ससुराल शास्त्री नगर में रख दिया था. जब वह गहना लेने आया तो उसने बहन के बारे में पूछा. दीपक ने बताया कि उसने पत्नी और बेटियों को रांची अपने रिश्तेदार के घर भेज दिया है.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज