लाइव टीवी

वीमेंस कॉलेज में शुरू किया जाएगा चरखा कोर्स, छात्राएं सीखेंगी सूत कातना

Anni Amrita | News18 Jharkhand
Updated: February 4, 2019, 5:33 PM IST
वीमेंस कॉलेज में शुरू किया जाएगा चरखा कोर्स, छात्राएं सीखेंगी सूत कातना
चर्खा कोर्स के शुरू होने की खबर से काफी उत्साहित नजर आईं वीमेंस कॉलेज की छात्राएं

चरखा का यह हुनर स्किल डेवलेपमेंट कोर्स के रूप में स्वीकृत कर लिया गया है. इसके लिए जरूरी रॉ मेटेरियल और ट्रेनर की व्यवस्था की गई है. चरखा का यह कोर्स कॉलेज की छात्राओं के लिए ही होगा.

  • Share this:
जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में इसी महीने यानी फरवरी से ही चरखा कातने का कोर्स शुरू किया जाएगा. केन्द्रीय खादी बोर्ड मुंबई से इसके लिए अनुमति मिल गई है. कॉलेज के गांधी स्टडी सेंटर फॉर रिसर्च में केवीआईसी और झारखंड खादी ग्रामोद्योग बोर्ड की ओर से  25 चरखे प्रदान किए जा चुके हैं. इनका इस्तेमाल अब कोर्स के रूप में होगा. छात्राएं जो सूत इससे कातेंगी, उसे खादी बोर्ड खरीद लेगा. इससेे मिलने वाले लाभ को इंसेटिव के रूप में छात्राओं को प्रदान किया जाएगा.

जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में चरखे का यह हुनर स्किल डेवलेपमेंट कोर्स के रूप में स्वीकृत कर लिया गया है. इसके लिए जरूरी रॉ मेटेरियल और ट्रेनर की व्यवस्था की गई है. चरखा का यह कोर्स कॉलेज की छात्राओं के लिए ही होगा. साथ ही एक स्टिचिंग सेंटर भी कॉलेज में खोला जाएगा, जहां कोई भी महिला या छात्रा आकर सिलाई की ट्रेनिंग ले सकेगी.

छह महीने के इस प्रशिक्षण के बाद उन्हें सर्टिफिकेट प्रदान किया जाएगा. यह सब कुछ खादी बोर्ड के सहयोग से होगा. वीमेंस कॉलेज की प्राचार्या डॉ. पूर्णिमा कुमार ने बताया कि चरखे का प्रशिक्षण छात्राओं में स्वावलंबन की भावना भरने के साथ-साथ स्वदेशी से भी जोड़ेगा, जो गांधीजी की सोच थी.

यह भी पढ़ें - झारखंड के पहले महिला विश्वविद्यालय का पीएम नरेंद्र मोदी ने किया ऑनलाइन शिलान्यास

यह भी पढ़ें - पलामू में उग्रवादियों ने मचाया उत्पाद, पत्थर माइंस में लगी 4 मशीनों को जलाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जमशेदपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2019, 12:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...