बच्चा चोरी के शक में युवक की पिटाई, पुलिस ने बचाई जान

Ashish Tiwari | News18 Jharkhand
Updated: September 2, 2019, 7:27 PM IST
बच्चा चोरी के शक में युवक की पिटाई, पुलिस ने बचाई जान
बच्चा चोर के नाम पर पिट रहे युवक को पुलिस ने किया रेस्क्यू

जमशेदपुर में भीड़तंत्र ने बच्चा चोर के शक में एक विक्षिप्त की जमकर पिटाई कर दी. मौके पर पहुंची पुलिस किसी तरह वहां जमा हुई भीड़ को समझाने-बुझाने में कामयाब हो पाई और पीड़ित को रेस्क्यू कर थाने ले आई.

  • Share this:
जमशेदपुर में भीड़तंत्र (Mobocracy) ने बच्चा चोर (Chil Thief) के शक में एक विक्षिप्त (Loony) की जमकर पिटाई कर दी. गनीमत इस बात की रही कि सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई. पुलिस किसी तरह वहां जमा हुई भीड़ को समझाने-बुझाने में कामयाब हो पाई और पीड़ित को रेस्क्यू (Rescue) कर थाने ले आई. बागबेड़ा थाने की पुलिस (Jamshedpur Police) अब पीड़ित से पूछताछ कर रही है. विक्षिप्त को पीटे जाने की ये घटना बागबेड़ा थाने के अंतर्गत गुलटू झोपड़ी में घटी. बच्चा चोर होने के शक में कुछ लोगों ने युवक को खंबे से बांध दिया था और उसकी पिटाई करने लगे थे. हालांकि बागबेड़ा थाना प्रभारी ने युवक की पिटाई (Youth Beaten) से साफ इनकार किया है, लेकिन युवक के चेहरे पर चोट के निशान साफ बयां कर रहे हैं कि उसके साथ क्या हुआ है.

पुलिस ने जताया आभार

बागबेड़ा थाना प्रभारी मदल शर्मा ने युवक को छोड़ दिए जाने पर स्थानीय लोगों के प्रति आभार जताया. उन्होंने कहा कि मॉब लिंचिंग को लेकर चलाए जा रहे जागरूकता अभियान का ही नतीजा है कि हम
युवक को बचा पाए. बागबेड़ा थाना पुलिस की सक्रियता से एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया.



आपको बता दें कि यह वही बागबेड़ा थाना क्षेत्र है जहां साल 2017 में नागाडीह में भीड़तंत्र ने 3 लोगों की जान ले ली थी, जिसमें एक बुजुर्ग महिला की भी मौत हुई थी.

ये भी पढ़ें - महागठबंधन की तुलना चोरों से कर फंसे झारखंड कांग्रेस अध्यक्ष
Loading...

ये भी पढ़ें - BJP रघुवर दास के नेतृत्व में लड़ेगी विधानसभा चुनाव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जमशेदपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 2, 2019, 7:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...