लाइव टीवी

फर्जी सीबीआई अधिकारी बनकर बदमाशों ने किया अगवा, 24 घंटे में पुलिस ने कराया आजाद

News18 Jharkhand
Updated: October 8, 2019, 7:02 PM IST
फर्जी सीबीआई अधिकारी बनकर बदमाशों ने किया अगवा, 24 घंटे में पुलिस ने कराया आजाद
अपराधियों ने पैसे कमाने के लिए रची अपहरण की साजिश

एसपी अंशुमन कुमार ने बताया कि सात में से चार अपहरणकर्ता दिल्ली के हैं. जबकि एक जामताड़ा का है, जो कार चला रहा था. ये लोग खुद को दिल्ली सीबीआई का अधिकारी बताकर वारदात को अंजाम दिया.

  • Share this:
जामताड़ा. पुलिस (Police) की तत्परता से 24 घंटे के भीतर ही अपहरण (Kidnapping) की गुत्थी सुलझ गई. साथ ही सात अपहरणकर्ताओं (Kidnappers) को गिरफ्तार कर लिया गया. मामला नारायणपुर थाना इलाके के पबिया का है. सोमवार दोपहर लोकनिया के रहने वाले मधुसूदन दास को नाटकीय ढंग से बाजार से अगवा कर लिया गया था. और परिजनों से 15 लाख की फिरौती (Ransom) मांगी गई. परिजनों ने पुलिस से गुहार लगाई. जिसके बाद एसडीपीओ अजय उपाध्याय के नेतृत्व में टीम ने मोबाइल लोकेशन ट्रैक कर पश्चिम बंगाल सीमा पर स्थित रूपनारायणपुर के पास से सभी अपहरणकर्ताओं को दबोच लिया. और मधसूदन दास को सुरक्षित मुक्त करा लिया. पुलिस ने बदमाशों के पास एक कार, एक बाइक, आधा दर्जन मोबाइल और कुछ एटीएम कार्ड्स बरामद किये.

खुद को सीबीआई अधिकारी बताकर किया अगवा 

एसपी अंशुमन कुमार ने बताया कि सात में से चार अपहरणकर्ता दिल्ली के हैं. जबकि एक जामताड़ा का है, जो कार चला रहा था. ये लोग खुद को दिल्ली सीबीआई का अधिकारी बताकर वारदात को अंजाम दिया.

एसपी के मुताबिक कांड का मास्टरमाइंड दीपक पंडित कर्माटांड थाना इलाके के काला झरिया का निवासी है. उसे साइबर क्राइम के एक मामले में गिरफ्तार कर दिल्ली ले जाया गया था. वहां जेल में उसकी दोस्ती विश्वजीत सिंह उर्फ प्रभात से हुई. जेल से छूटने के बाद दीपक पंडित ने विश्वजीत को जामताड़ा बुलाया. यहीं पैसा कमाने के लिए अपहरण का षड्यंत्र रचा गया.

गिरफ्तार 7 में से 4 अपराधी दिल्ली के 

गिरफ्तार 22 वर्षीय विश्वजीत सिंह उर्फ प्रभात कपासेड़ा, दिल्ली में रहता है. वह मूलरूप से बिहार के मुजफ्फरपुर के कटनी का रहने वाला है. 20 वर्षीय प्रशांत कुमार उर्फ गोलू भी कपासेड़ा, दिल्ली में रहता है और मूलरूप से दरभंगा के थाना सिंवाड़ा इलाके का रहने वाला है. 21 वर्षीय शिवम शर्मा उर्फ शिवा भी कपासेड़ा दिल्ली में रहता है और उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के विषैली थाना इलाके का निवासी है. 20 वर्षीय अरुण उपाध्याय द्वारिका सेक्टर-23 दिल्ली पोचनगर का निवासी है. वह भी बिहार के रोहतास के थाना हरीगांव का रहने वाला है. 19 वर्षीय सनी कुमार भी दिल्ली में रहता है, लेकिन मूलरूप से बिहार के नालंदा के महदीपुर का रहने वाला है. मोहम्मद इस्लाम अंसारी जामताड़ा थाना के घघड़ा का रहने वाला है.

गुत्थी सुलझाने वाले पुलिसकर्मियों होंगे पुरस्कृत
Loading...

एसपी ने अपहरण की गुत्थी सुलझाने वाले पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत करने का ऐलान किया है. छापेमारी अभियान में एसडीपीओ अरविंद उपाध्याय, पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी जामताड़ा मनोज कुमार, थाना प्रभारी नारायणपुर अजीत कुमार, थाना प्रभारी मिहिजाम मदन प्रसाद खंडवार, एएसआई पंकज कुमार, एसआई सत्यम, सर्किल इंस्पेक्टर सिद्धार्थ कुमार, चंदन कुमार सिंह, राकेश कुमार, संतोष कुमार, धर्मेंद्र यादव, बेंजामिन हेंब्रम ने हिस्सा लिया.

रिपोर्ट- राणा प्रताप सिंह

ये भी पढ़ें- विधायक ढुल्लू महतो और पूर्व मंत्री जलेश्वर महतो के समर्थकों में हिंसक झड़प, दो लोगों को लगी गोली

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जामताड़ा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 8, 2019, 7:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...