Home /News /jharkhand /

जामताड़ा में जंगली हाथी का तांडव: घरों में सोए थे लोग, गजराज को देख बिस्तर से उठकर भागे

जामताड़ा में जंगली हाथी का तांडव: घरों में सोए थे लोग, गजराज को देख बिस्तर से उठकर भागे

Jamtara Elephant News: झुंड से बिछड़े हाथी ने गोवाकोला-तालबेड़िया गांव में दहशत फैला दी. (न्‍यूज 8 हिन्‍दी)

Jamtara Elephant News: झुंड से बिछड़े हाथी ने गोवाकोला-तालबेड़िया गांव में दहशत फैला दी. (न्‍यूज 8 हिन्‍दी)

Elephant Terror in Jharkhand: जामताड़ा जिले के गोवाकोला गांव में अलसुबह जब लोगों की नींद भी नहीं खुली थी, तब जंगल में झुंड से बिछड़े एक जंगली हाथी के तांडव ने दहशत पैदा कर दी. गांव घुसे इस हाथी ने एक घर को क्षतिग्रस्‍त कर दिया. सूचना मिलने पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट – सुमन भट्टाचार्य

    जामताड़ा. झारखंड में हाथियों का आतंक लगातार बढ़ता ही जा रहा है. अब प्रदेश के जामताड़ा जिले के एक गांव में जंगली हाथी ने तबाही मचाते हुए दहशत पैदा कर दी है. जिले के मिहिजाम थाना क्षेत्र के गोवाकोला-तालबेड़िया के इलाके में लोग जब अपने घरों में सोए हुए थे, तभी झुंड से बिछड़ा एक हाथी वहां पहुंच गया और जमकर उत्पात मचाया. हाथी ने एक घर को क्षतिग्रस्‍त कर दिया. जंगली हाथी के रौद्र रूप से ग्रामीणों में दहशत फैल गई.

    ग्रामीणों के अनुसार, हाथी के गांव में घुसने की घटना उस समय हुई, जब अलसुबह लोग अपने घरों में सो रहे थे. तभी झुंड से बिछड़ा एक हाथी भटकता हुआ गांव में घुस आया और एक घर को क्षतिग्रस्त कर दिया. इस घटना की सूचना के बाद गांव में अफरा-तफरी मच गई.

    हाथियों के लगातार आतंक की घटनाओं से लोग डरे हुए

    बता दें 14 अप्रैल की सुबह हाथी ने बैजनाथडीह गांव की एक महिला को घायल कर दिया था. उसी दिन तड़के सुबह चलना के समीप फुरकान अंसारी नामक एक मजदूर को हाथी ने कुचल दिया था. इसमें उसकी जान चली गई थी. इसके अलावा फतेहपुर समेत कई इलाके में हाथियों ने तांडव मचाया था.

    elephant attack, elephant damage home, elephant in jamtara

    मिहिजाम थाना क्षेत्र के एक गांव में पहुंचे हाथी ने एक घर को क्षतिग्रस्‍त कर दिया. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

    तीन दिन पहले भी श्यामपुर में दिखा था जंगली हाथी

    तीन दिन पहले जामताड़ा के श्यामपुर में भी झुंड से बिछड़े एक जंगली हाथी को देखा गया था, जिसे ग्रामीणों खदेड़ा था. रविवार को तालबेड़िया और गुआकोला के बीच विचरण कर रहे हाथी को जब ग्रामीणों ने देखा, तो तत्काल वन विभाग को इसकी सूचना दी. ग्रामीणों द्वारा सूचना मिलने के बाद वन विभाग की टीम गांव पहुंची और जंगली हाथी को गांव से भगाने की कोशिश की गई.

    मिसालः श्‍मशान घाट तक पहुंच सके शव, इसलिए मुसलमानों ने दान कर दी जमीन; बना डाली सड़क 

    वन विभाग लोगों को जागरूक कर रहा

    वन विभाग की ओर से आम लोगों को भी जागरूक भी किया जा रहा है, ताकि वे हाथी से दूर रहें. फिलहाल झुंड से बिछड़ा हाथी गोवाकोला के जंगल में डेरा जमाए हुए है. वहीं, वन विभाग की टीम भी मौके पर है. दूसरी तरफ, ग्रामीणों में इसको लेकर दहशत का माहौल है.

    वन विभाग से नाराज हैं दामोदरवैली के मजदूर

    दामोदर वैली मजदूर वास्तुहारा संधर्ष समिति के अध्यक्ष रोबिन मिर्धा ने वन विभाग को आड़े हाथों लिया है. उन्‍होंने कहा कि हाथी के जिले में प्रवेश होने के बाद विभाग जानमाल के नुकसान का इंतजार करती है. गनीमत है कि गजराज ने किसी प्रकार की जानमाल का नुकसान नहीं पहुंचाया और वह फिलहाल तालबेड़िया व गोवाकोला के बीच एक पहाड़ी पर अपना डेरा जमा लिया है. गांव से गुजरने के क्रम में हाथी ने तालबेड़िया गांव की मंजूरी राय के घर का छप्पर तोड़ दिया. साथ ही बाड़ी में लगे बैगन के पौधों को भी रौंद डाला.

    Tags: Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर